तबरेज की लिंचिंग पर बोले ओवैसी – सरकारों की शह पर मुसलमानों के खिलाफ फैलाई जा रही नफरत

10:22 am Published by:-Hindi News
asaduddin owaisi 750x460

नई दिल्ली: झारखंड के कोल्हान प्रमंडल क्षेत्र में कथित चोरी के आरोप में 24 साल के तबरेज़ अंसारी की पिटाई के बाद हुई मौत के मामले में एआईएमआईएम प्रमुख असीदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया है।

ओवैसी ने कहा कि मॉब लिंचिंग की घटनाएं नहीं रुक सकतीं क्योंकि बीजेपी और आरएसएस ने लोगों के दिमाग में मुस्लिमों के प्रति नफरत की भावना बढ़ा दी है। लोगों के दिमाग में यह बात सफलतापूर्वक बैठा दी गई है कि मुस्लिम आतंकी, देशद्रोही और गो-हत्यारे होते हैं।

उन्होंने कहा कि ‘पीट-पीट कर मार डालना (मॉब लिंचिंग) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विरासत है। मोदी को भारतीय इतिहास में मॉब लिंचिंग के लिए याद रखा जाएगा, क्योंकि उनके कार्यकाल में इस तरह की सबसे ज्यादा घटनाएं हुई हैं। एआईएमआईएम प्रमुख नेकहा, ‘ये घटनाएं हमेशा मोदी को डराएंगी, क्योंकि प्रधानमंत्री के रूप में वे इसे रोक नहीं सके’

उन्‍होंने कहा ऐसी घटनाएं तभी खत्‍म होंगी जब सरकार अपनी संवैधानित जिम्‍मेदारी को निभाएगी और ऐसी संस्‍थाओं पर ईमानदारी से रोक लगाएगी। लेकिन भाजपा सरकारें अपनी ड्यूटी को निभाने में अभी तक नाकाम साबित हो रही हैं। ये पूरे देश के लिए नुकसानदायक है। यदि सरकार महात्‍मा गांधी के सपनों का नया भारत बनाने जा रहे हैं तो इस प्रकार की घटनाओं की इसमें कहीं जगह नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि 17 जून की रात में खरसावां के क़दमडीहा निवासी तबरेज़ को कुछ लोगों ने खंभे में बांधकर बेदर्दी से पीटा थे। इस दौरान उससे नाम पूछ कर ‘जय श्री राम’ और ‘जय हनुमान’ के नारे भी लगवाए गए। तबरेज के पत्नी शाइस्ता परवीन ने पुलिस को अपनी शिकातय में कहा है कि 17 जून को उसके पति जमशेदपुर जा रहे थे, उसी दौरान धातकीडीह गांव में पप्पू मंडल और उनके लोगों ने उनके साथ मारपीट की।

तबरेज के पत्नी का कहना है कि उनलोगों ने रात भर उनके पति को बिजली के खंंभे में बांधकर रखा गया। इस दौरान उनसे जबरन जय श्री राम और जय हनुमान का नारा भी लगवाया गया। शाइस्ता परवीन ने शिकायत मेंकहा कि रातभर मारपीट किए जाने के बाद सुबह उनके पति को सरायकेला जेल भेज दिया गया। तबरेज़ की शादी इसी साल 27 अप्रैल को हुई थी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें