Thursday, January 20, 2022

नमक रोटी मामले में ओवैसी का योगी पर निशाना, पत्रकारों से भी कर डाली बड़ी अपील

- Advertisement -

यूपी में मिर्जापुर के एक स्कूल में मिड डे मील में बच्चों को नमक-रोटी परोसे जाने की खबर के बाद पत्रकार के खिलाफ मुक़दमा दर्ज किए जाने को लेकर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने योगी सरकार की आलोचना की।

हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने यह भी जानना चाहा कि मीडिया समुदाय योगी आदित्यनाथ सरकार का बहिष्कार क्यों नहीं कर रहा है? एआईएमआईएम के नेता का ध्यान उत्तर प्रदेश में पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज करने की ओर आर्किषत किया गया तो उन्होंने कहा, ‘‘मीडिया समुदाय (पत्रकार पर मामला दर्ज होने के खिलाफ) बयान जारी करने के अलावा क्या कर रहा है?’’

उन्होंने कहा, ‘‘पत्रकार समुदाय एक दिन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार का बहिष्कार क्यों नहीं कर देता है? एक दिन के लिए नहीं कर सकता है तो कम से कम आधे घंटे के लिए ही क्यों नहीं कर देता है?’’ ओवैसी ने पत्रकारों को सतर्क करते हुए कहा कि उनकी किसी भी तरह की रिपोर्टिंग के लिए मामला दर्ज किया जा सकता है।

ओवैसी ने आगे ने कहा, ‘‘कृपया सजग रहें। यह किस की बकवास है। लोकतंत्र में, प्रेस को आजाद रहना चाहिए। मैं इस घटना की निंदा करता हूं। उत्तर प्रदेश सरकार के कदम की निंदा होनी चाहिए और मैं पूरी तरह से सच दिखाने वाले पत्रकारों के साथ हूं।’’

इससे पहले वह असम के मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से ट्वीटर पर भीड़ गए थे। हिमंत बिस्वा से ट्वीट किया था कि भारत हमेशा उत्पीड़ित हिन्दुओं का वतन रहेगा। इसका जवाब देते हुए ओवैसी ने कहा कि देश की नागरिकता किसी व्यक्ति के मजहब के आधार पर नहीं दी जाती है।

उन्होंने कहा, ‘मैं असम के मंत्री या संघ परिवार के किसी भी व्यक्ति को चुनौती देता हूं कि मुझे दिखाएं (संविधान में) कहां धर्म का उल्लेख है। नागरिकता धर्म के आधार पर नहीं दी जाती है।’

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles