ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने उत्तर प्रदेश की सियासत में दस्तक दे दी है। 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी और सुहैल देव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर से हाथ मिला लिया है।

राजधानी लखनऊ में कानपुर रोड पर स्थित एक होटल में बुधवार को ओवैसी और राजभर के बीच मुलाकात हुई। मुलाक़ात के बाद उन्होने कहा कि एआईएमआईएम यूपी में छोटे दलों को साथ लेकर विधानसभा चुनाव में उतरेगी। वहीं राजभर से मुलाकात पर ओवैसी ने कहा कि हम दोनों आप के सामने बैठे हुए हैं। हम एक साथ हैं और राजभर जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ने को तैयार हैं।

राजभर ने बताया कि उत्तर प्रदेश के 2022 चुनाव में हमारा 8 दलों का भागीदारी संकल्प मोर्चा है। जिसमें हम संयुक्त मोर्चे के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। इसी मोर्चे में ओवैसी भी शामिल हुए हैं। भागीदारी संकल्प मोर्चे में राष्ट्रीय अध्यक्ष जन अधिकार पार्टी के बाबू सिंह कुशवाहा, राष्ट्रीय अध्यक्ष अपना दल कृष्णा पटेल, भारत माता पार्टी रामसागर बिंद, राष्ट्र उदय पार्टी बाबू रामपाल, राष्ट्रीय भागीदारी पार्टी (पी) प्रेमचंद प्रजापति, भारतीय वंचित समाज पार्टी रामकरण कश्यप और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी संकल्प मोर्चे में शामिल हुई है।

बता दें कि बुधवार को ही पीस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मन्नान साहब भी एआईएमआईएम में शामिल हो गए। इसके पहले प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने भी यूपी में ओवैसी से गठबंधन के संकेत दिए थे। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव कह चुके हैं कि जितनी भी धर्मनिरपेक्ष पार्टियां हैं, हम उन सभी पार्टियों से बात करेंगे।