Friday, August 6, 2021

 

 

 

लोकसभा में दहाड़े ओवैसी – घुसपैठिया नहीं घुसपैठियों का बाप हूं, मुझे मारो गोली….

- Advertisement -
- Advertisement -

नागरिकता संसोधन कानून (CAA) को लेकर बहस के दौरान आज लोकसभा में सांसद और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी का अलग ही रूप देखने को मिला। जिसमे वह विरोधियों पर बरस पड़े।

इस दौरान ओवैसी ने कहा, ‘सीएए नागरिकता देता भी है और लेता भी है। असम में पांच लाख मुसलमानों के नाम नहीं आए, लेकिन असम के बंगाली हिंदुओं को नागरिकता देना चाहते हैं। मैं घुसपैठी नहीं घुसपैठियों का बाप हूं। एनपीआर एनआरसी एक ही है।’

ओवैसी ने कहा कि आज गोली मारो जैसे नारे लगाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि देश के गद्दारों को मारो कहा जाता है। ओवैसी ने कहा, “मुझे मारो गो’ली मैं मरने को तैयार हूं।” ओवैसी ने कहा कि ये लोग संविधान को खत्म करना चाहते हैं। भारत को हिटलर का देश बनाना चाहते हैं।

उन्होने ये भी कहा कि एनपीआर होगा तो एनआरसी भी होगा। दोनों में कोई अंतर नहीं है। आज नहीं तो कल होगा, कल नहीं तो परसों होगा। ओवैसी ने कहा कि क्या पीएम ये बताएंगे कि एनपीआर और एनआरसी एक ही सिक्के के दो पहलू नहीं हैं

उन्होंने कहा कि एनपीआर होगा तो एनआरसी होगा। उसमें आठ नये सवाल क्यों डाला जा रहा है। औवैसी ने कहा कि CAA नागरिकता देता है और लेता भी है। उन्होंने कहा कि ये पहला कानून है जिसमें मजहब का नाम लेकर कानून बनाया गया।

ओवैसी ने कहा कि पीएम ने खुद कहा था कि वे मुस्लिम महिलाओं के भाई हैं आज मुस्लिम महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं तो भाई को नाराजगी क्यों है। ओवैसी ने कहा कि देश में आज का माहौल 1933 के जर्मनी और 1938  के जर्मनी जैसा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles