अलीगढ | AIMIM प्रुमख असुदुद्दीन ओवैसी ने समाजवादी पार्टी के चुनावी घोषणापत्र पर कटाक्ष करते हुए कहा की जो लोग दूध घी देने की बात करते है उनकी भेंसे चोरी हो जाती है. भेंसे नही होंगी तो दूध घी कहाँ से देंगे. ओवैसी ने नोट बंदी और जलीकट्टू पर आये अध्यादेश को लेकर मोदी सरकार पर भी हमला बोला. उन्होंने लोगो से एकजुट होने की अपील करते हुए कहा की जलीकट्टू पर लोगो की एकता ने सरकार को संविधान बदलने पर मजबूर कर दिया.

अलीगढ में अपने प्रत्याशी परवेज अहमद के समर्थन में एक रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी ने बसपा, सपा, कांग्रेस और बीजेपी पर जमकर भड़ास निकाली. समाजवादी अध्यक्ष अखिलेश यादव को कठघरे में खड़ा करते हुए ओवैसी ने कहा की जो शख्स अपने बाप का नही हो सका वो आपका क्या होगा? इसलिए इनके बहकावे में न आये. ओवैसी ने उत्तर प्रदेश चुनावो में कुछ जगहों पर अपने उम्मीदवार खड़े किये हुए.

अलीगढ की रैली में काफी भीड़ देखकर ओवैसी गदगद हो गए. मंच पर पहुँचते ही लोगो ने ओवैसी का फूलो की बारिश करके स्वागत किया. इस स्वागत से अभिभूत दिखे ओवैसी ने लोगो को गुजरात और मुजफ्फरनगर दंगो की भी याद दिलायी. इसके अलावा यूनिवर्सल सिविल कोड पर लोगो से एकजुट होने का आह्वाहन करते हुए उन्होंने कहा की जलीकट्टू पर लोगो की ताकत ने संविधान बदलने पर मजबूर कर दिया.

ओवैसी ने आगे बोलते हुए कहा की जलीकट्टू पर आये अध्यादेश ने मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है. इसलिए अपनी ताकत पहचानिए और सियासत बदलने का काम कीजिये. नोट बंदी का जिक्र करते हुए ओवैसी ने कहा की मोदी सरकार के इस फैसले ने गरीबो से उनके मुंह से निवाला छीन लिया. अलीगढ तो क्या मुरादाबाद तक में कारखाने बंद पड़ गए, हालात बद से बदतर हो गए. नोट बंदी की वजह से आप लोगो को जो दिक्कत हुई उसका बदला आप मतदान के जरिये ले सकते है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें