Saturday, October 23, 2021

 

 

 

सिख नरसं’हार पर ओवैसी ने मोदी से पूछा – ‘गुजरात दंगों पर क्या कहेंगे’

- Advertisement -
- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों को ‘भयानक जनसंहार’ बताने पर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री को साल 2002 के गुजरात दंगों की याद दिलाई. बता दें कि इससे पहले मोदी ने 1984 में सिख विरोधी दंगों को कथित तौर पर ‘भयावह जनसंहार’ करार दिया था.

हैदराबाद लोकसभा से सांसद ओवैसी ने मोदी से पूछा कि वह गुजरात दंगों पर क्या कहेंगे? ओवैसी ने ट्वीट किया, ‘श्रीमान, तो मुख्यमंत्री के तौर पर आपके कार्यकाल के दौरान 2002 में हुई तबाही कहां है और आप लोगों को बचाने की अपनी संवैधानिक शपथ को बचाने में नाकाम रहे थे.’

ओवैसी मोदी द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सलाहकार सैम पित्रोदा के सिख विरोधी दंगों से संबंधित बयान पर मोदी द्वारा उनकी निंदा किए जाने पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे. इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने गुरुवार को सिख विरोधी दंगों पर यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि ‘हुआ तो हुआ.’

मोदी सरकार पर हमला करते हुए कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने कहा था कि आप तो लगातार झूठ बोलते ही रहते हैं, पहले हमारे पर झूठ बोला कल आप पर बोला. 1984 का मुद्दा क्या है, आप बात तो करिए. आपने पांच साल में क्या किया, ’84 में हुआ तो हुआ.. आपने क्या किया.

पित्रोदा के इस बयान पर सभी सियासत गरमा गई थी. पित्रोदा के बयान पर पीएम मोदी ने कहा कि ‘कांग्रेस के बड़े नेता सैम पित्रोदा ने साफ कहा कि 1984 का दंगा हुआ तो हुआ. कांग्रेस के लिए जीवन का कोई मूल्य नहीं है. कांग्रेस के समय में हजारों लोगों का कत्लेआम हुआ है. दिल्ली में 2800 से ज्यादा लोगों की हत्या कर दी गई लेकिन कांग्रेस पर कोई फर्क ही नहीं पड़ता.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles