पश्चिम बंगाल में अपने पैरों पर खड़ी हो रही आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि ओवैसी की पार्टी बीजेपी से पैसा लेकर काम कर रही है। उन्होने कहा, ये भी हिंदू चरमपंथियों की तरह मुसलिम अतिवादी हैं। उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से अपील की है कि उन्हें असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोगों पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

ऐसे में ममता बनर्जी के इस आरोप का जवाब देते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- ”ये कोई धार्मिक अतिवादी नहीं है जो ये कह रहे हैं कि बंगाल के मुसलमान मानव विकास सूचकांक में किसी भी अल्‍पसंख्‍यक की तुलना में सबसे खराब हालत में है।” ओवैसी ने कहा कि अगर दीदी ‘हैदराबाद वालों’ से इतने ही दुखी हैं तो उन्‍हें यह बताना चाहिए कि लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में 42 में से 18 सीटों पर बीजेपी कैसे जीत गई।

ओवैसी ने कहा कि मेरे खिलाफ आरोप लगाकर सुश्री ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल के मुसलमानों को यह संदेश दे रही हैं कि ओवैसी की पार्टी राज्‍य में एक मजबूत ताकत बनने जा रही है। इस तरह की टिप्‍पणी करके ममता बनर्जी अपना डर और हताशा ही प्रदर्शित कर रहीं हैं।

ओवैसी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में मुसलमानों की खराब सामाजिक हालात को लेकर ममता बनर्जी को चिंतित होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि ममता बनर्जी की बातों से मुसलमानों को निराशा हाथ लगी है। मुसलमानों ने पूरे दिल से उन्‍हें वोट दिया था और इस बात को उजागर किया था कि उनकी पार्टी बंगाल में हार रही है।

बता दें कि ममता बनर्जी ने कहा कि कुछ नेता लोगों में बंटवारा पैदा कर रहे हैं, उनकी एक पार्टी है जो इसको बढ़ावा दे रही है। ये लोग हैदराबाद से आते हैं और इस इलाके में रैलियां कर रहे हैं। ममता ने कहा कि इस तरह के लोग अल्पसंख्यकों की सुरक्षा का दावा करते हैं, लेकिन आप इनकी बातों में ना आएं।

अल्पसंख्यक समुदाय से अपील करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि मैं आपसे कहती हूं कि इन तरह की फोर्स के बहकावे में ना आएं। इसी के साथ उन्होंने कहा कि मैं हिंदू लोगों से भी अपील करती हूं कि वह हिंदू कट्टरपंथी ताकतों के भी बहकावे में ना आएं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन