Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

CAA: सोनिया गांधी की अध्यक्षता में राष्ट्रपति से मिला विपक्षी प्रतिनिधिमंडल, शिवसेना ने किया किनारा

- Advertisement -
- Advertisement -

CAB और उसे लेकर हुई हिंसा पर मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाला प्रतिनिधिनमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाक़ात की। सोनिया के अलावा इस डेलिगेशन में सीनियर कांग्रेसी नेता अहमद पटेल, एके एंटनी, पी चिदंबरम, टीआर बालू, SP नेता रामगोपाल यादव हैं।

इस दौरान विपक्षी प्रतिनिधिनमंडल ने कोविंद को CAB से जुड़ा एक ज्ञापन सौंपा। भेंट के बाद सोनिया ने पत्रकारों को बताया कि मोदी सरकार जनता की आवाज दबा रही है। वहीं, उन्हीं की पार्टी के गुलाम नबी आजाद ने आरोप लगाया कि केंद्र देश की परवाह नहीं कर रही है। यह कानून देश को बांटने वाला है। वहीं सपा और टीएमसी ने मांग की कि राष्ट्रपति, मोदी सरकार से यह कानून वापस लेने की मांग करें।

हालांकि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी से सरकार बनाने वाली शिवसेना ने इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल नहीं हुई। पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने जब राष्ट्रपति से मिलने वाले विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैं इसके बारे में कुछ नहीं जानता। शिवसेना इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा नहीं है’।

क्या महाराष्ट्र में नागरिकता संशोधन कानून लागू किया जाएगा, तो इस सवाल के जवाब में संजय राउत ने कहा कि इसका फैसला हमारे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कैबिनेट मीटिंग में करेंगे। बता दें कि शिवसेना ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन किया था, मगर राज्यसभा में वोटिंग से वॉकआउट कर लिया था।

गौरतलब है कि नागरिकता कानून के खिलाफ देश भर के कई हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं। असम में अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं जामिया में प्रदर्शन के दौरान पुलिस और छात्रों के बीच झड़प भी देखने को मिली, जिसमें करीब 60 से अधिक लोग घायल हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles