लखनऊ | चुनावो की घोषणा होते ही ओपिनियन पोल का दौर भी चल पड़ता है. लगभग सभी न्यूज़ चैनल सर्वे की इस दौड़ में शामिल होकर टीआरपी की रेस में आगे निकलना चाहते है. हर चैनल यह दावा करता है की उनका सर्वे सबसे सटीक और विश्वसनीय है. अब यह दर्शको को निर्णय लेना है की वो किस चैनल के सर्वे को सटीक और विश्वसनीय मानते है क्योकि सभी न्यूज़ चैनल के सर्वे एक दुसरे के कही आसपास भी नहीं होते.

अभी दो दिन के अन्दर दो न्यूज़ चैनल ने उत्तर प्रदेश चुनावो को लेकर सर्वे दिखाए. एक सर्वे में समाजवादी और कांग्रेस का गठबंधन सत्ता के करीब दिख रहा है तो दुसरे सर्वे में बीजेपी. दोनों ही सर्वे एक दुसरे के बिलकुल करीब नही दिख रहे है. उधर पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए भी कुछ चैनल के सर्वे बाहर आये है. एक चैनल पंजाब में अकाली-बीजेपी गठबंधन की सरकार दिखा रहा है तो दूसरा कांग्रेस की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इतने तरह के सर्वे आने के बाद वो वोटर जो अभी तक तय नही कर पाया था की उसे किसको वोट देना है, वो संसय की स्थिति से बाहर नही निकल पायेगा. टाइम्स नो- वीएम्आर के सर्वे में दिखाया गया है की उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बन रही है. यहाँ बीजेपी 202 सीटो के साथ बहुमत प्राप्त करती दिख रही है. जबकि दुसरे नम्बर पर रहने वाली समाजवादी-कांग्रेस गठ्बंधन 147 सीटो पर सिमटती दिख रही है.

एबीपी न्यूज़ और सीएसडीएस-लोकनीति के दुसरे सर्वे में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन को बहुमत के करीब दिखाया गया है. इस सर्वे के अनुसार सपा-कांग्रेस गठबंधन 187 से 197 सीटो पर जीत हासिल करेगा जबकि बीजेपी 118 से 128 सीटो के बीच सिमटती दिख रही है. इसके अलावा बसपा को 76 से 86 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है. हालाँकि दोनों ही सर्वो में अखिलेश को बतौर मुख्यमंत्री जनता की पहली पसंद बताया गया है.

Loading...