सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने दावा किया है कि पूर्वांचल में इस बार भाजपा का पतन हो जाएगा। दरअसल, राजभर ने लोकसभा चुनाव के 7वें चरण में पूर्वांचल की तीन सीटों पर विपक्षी दलों के प्रत्याशियों को समर्थन दिया है।

लोकसभा चुनाव में भाजपा से टिकट को लेकर नाराज चल रहे राजभर ने मिजार्पुर में कांग्रेस और महाराजगंज तथा बांसगांव में गठबंधन प्रत्याशियों को समर्थन देने का फैसला लिया है। सुभासपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण राजभर ने बताया कि मिजार्पुर, महाराजगंज और बांसगांव में पार्टी के घोषित प्रत्याशियों का पर्चा खारिज होने की वजह से यह फैसला लिया गया है।

अरुण राजभर ने कहा कि पर्चा खारिज होने के बाद कार्यकर्ताओं के सुझाव पर पार्टी ने कांग्रेस और गठबंधन प्रत्याशियों के समर्थन का फैसला लिया है। इन तीनों सीटों पर पार्टी कार्यकर्ता बीजेपी प्रत्याशी को हराने का काम करेंगे।

bjp

उधर राजभर का कहना है कि उन्होंने 13 अप्रैल को ही योगी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है, लेकिन मुख्यमंत्री ने उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। उन्होंने चुनाव आयोग से शिकायत कर बीजेपी प्रत्याशियों द्वारा उनकी तस्वीर का प्रचार में इस्तेमाल करने का भी आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा कि मायावती का दावा पीएम पद के लिए सबसे मजबूत है और उनका काम बोलता है। अगर जरूरत पड़ी तो मैं भी उनका समर्थन करूंगा। राजभर ने कहा कि मैं न तो महागठबंधन के साथ हूं और ना ही एनडीए के साथ और मुझे भाजपा के हारने की कोई परवाह नहीं है। उन्होंने कहा कि कम सीट होने पर भी दलित होने के नाते मायावती का कोई विरोध नहीं कर पाएगा।

गौरतलब है कि लोकसभा सीटों के बंटवारे को लेकर बीजेपी से बात न बनने के बाद राजभर ने पूर्वांचल के 39 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए हैं। इनमे पीएम मोदी की संसदीय वाराणसी सीट भी शामिल है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन