अयोध्या विवाद को आपसी सहमति से सुलझाने की सुप्रीम कोर्ट की नसीहत के बाद भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अपना सुझाव पेश करते हुए कहा कि राम मंदिर को बाबरी मस्जिद के स्थान पर और बाबरी मस्जिद को सरयू नदी के दूसरी तरफ बनाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि हम हमेशा तैयार थे. मंदिर और मस्जिद बनाए जाने चाहिए लेकिन मस्जिद सरयू नदी के दूसरी तरफ बननी चाहिए. राम जन्मभूमि पूरी तरह से राम मंदिर के लिए होनी चाहिए. स्वामी ने दलील दी कि सउदी अरब और अन्य मुस्लिम देशों में मस्जिद ऐसा स्थल मानी जानी है जहां नमाज पढ़ी जाती है और दुआ कहीं भी मांगी जा सकती है.

स्वामी ने कहा, मेरा सुझाव यह है कि मस्जिद सरयू नदी के दूसरी तरफ बननी चाहिए और राम जन्मभूमि राम मंदिर के लिए होनी चाहिए. हम राम का जन्मस्थल नहीं बदल सकते, लेकिन मस्जिद कहीं भी बनाई जा सकती है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आपको बता दें कि इस  मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि यह एक संवेदनशील और भावनात्मक मामला है. कोर्ट ने कहा कि ‘संवेदनशील मसलों का आपसी सहमति से हल निकालना बेहतर है.’ सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस विवाद का हल तलाश करने के लिए सभी संबंधित पक्षों को नये सिरे से प्रयास करने चाहिए.

Loading...