जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा कि यदि यूपी में बीजेपी की जीत के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को श्रेय मिलता हैं तो दिल्ली और बिहार की हार की जिम्मेदारी भी तय होनी चाहिए. उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि मोदी लहर अस्थायी है और यह लंबे समय तक नहीं टिकेगी.

उन्होंने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि  ‘‘मैंने कहा (ट्विटर पर) था कि यदि समान स्थिति बरकरार रहती है, मेरा मतलब पराजय से है, जो इन चुनावों (यूपी में) में हमने झेली, यदि हम उससे नहीं सीखते हैं तो निस्संदेह हमें 2019 के बजाय 2024 के चुनावों के बारे में सोचना चाहिए.’’ नेशनल कांफ्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि यदि समान स्थिति कायम रहती है तो यह स्वाभाविक है.

अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘जिस तरह से बीजेपी ने यूपी चुनाव में सफाया किया और दूसरे स्थान पर आने के बावजूद जिस तरह से दो राज्यों में उन्होंने जोड़ तोड़ की मदद से सरकारें बनायी, इन चीजों के मद्देनजर हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि 2019 एक कड़ा चुनाव होगा.’’ उन्होंने कहा कि हमें आज से ही उस कड़ी परीक्षा के लिए जुट जाना चाहिए

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल उन्होंने यूपी में बीजेपी की जीत पर कहा था कि मोदी का सामना करने के लिए कोई नेता नहीं है तथा विपक्ष को 2019 को भूल जाना चाहिए और 2024 की तैयारी करनी चाहिए.

Loading...