kapil

लखनऊ में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने नोटबंदी को मुस्लिम समाज के लिए सबसे ज्यादा नुकसानदेह बताते हुए कहा कि नोटबंदी के कारण सबसे ज्यादा नुकसान मुसलमानों का हुआ हैं क्योंकि इस्लाम धर्म में ब्याज हराम होने के कारण वे बैंक अकाउंट नहीं रखते. ऐसे में उन्हें सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं.

कपिल सिब्बल ने कहा इस नोटबंदी से सबसे ज्यादा अगर कोई परेशान है तो वो मुसलमान हैं. क्योंकि ज्यादातर मुसलमान बैंक अकाउंट नहीं रखते. सिब्बल के अनुसार छोटा व्यापारी हो या बड़ा वो ज्यादातर धंधा कैश में करते हैं. क्योंकि वो सूद नहीं खाते इसलिए बैंक अकाउंट भी नहीं रखते.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सिब्बल ने कहा कि वो चांदनी चौक इलाके से आते हैं और उनसे बड़ी तादात मे मुसलमान जुड़े रहे हैं इसलिए उन्हें ये बात मालूम है. सिब्बल ने ये बात शनिवार को लखनऊ में कांग्रेस दफ्तक में कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग की बैठक के दौरान अपने संबोधन में कही.

गौरतलब रहें कि इस्लाम धर्म में ब्याज को हराम करार दिया गया हैं. ऐसे में मुसलमान बैंकों में अकाउंट रखने की बजाय कैश से ही अपना काम चलाते हैं. हाल ही में देश की इस तबके को बैंकिंग व्यवस्था से जोड़ने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने बैंकों को इस्लामिक विंडो खोले जाने का प्रस्ताव दिया हैं.

Loading...