Wednesday, June 16, 2021

 

 

 

मोदी सबका नहीं सिर्फ हिंदुत्व का विकास चाहते हैं, बाबरी के आरोपियों को सजा के बजाय मंत्रालय दिया

- Advertisement -
- Advertisement -

कानपुर। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी ने कानपुर में कहा कि मैं किसी के मजहब के खिलाफ नहीं हूं. उन्होंने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में 38 जगह लड़ रहे हैं मुसलमानों से अपील की है कि वह समाजवादी पार्टी को वोट न करें और बीजेपी को हराएं.

ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया. उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां मोदी मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए गुजरात में दंगे नहीं रोक पाये थे, वहीं दूसरी तरफ मुजफ्फरनगर के दंगों को अखिलेश नहीं रोक पाये. फिर दोनों में क्या फर्क बचा? ओवैसी ने कहा कि अखिलेश मुसलमानों को भाजपा से डराकर वोट हासिल करना चाहते हैं.

उन्होंने आगे कहा कि वह पहले भी कानपुर आना चाहते थे लेकिन प्रशासन ने उन्हें आने नहीं दिया. ओवैसी ने कहा कि चुनाव आचार संहिता लागू होने की वजह से चुनाव आयोग के डर के कारण उन्हें यहां आने की अनुमति दी गई. उन्होंने कहा कि वह उत्तर प्रदेश में करीब एक दर्जन चुनावी सभाएं कर चुके हैं लेकिन, उनके भाषण से प्रदेश में कहीं भी कानून व्यवस्था को खतरा नहीं पहुंचा.

ओवैसी ने कहा कि असल में उनसे कानून व्यवस्था को नहीं बल्कि समाजवादी पार्टी की सरकार को खतरा था. क्योंकि, उसे यह बात सामने आने का डर था कि वह भारतीय जनता पार्टी का डर दिखाकर मुसलमानों का वोट हासिल कर रही है. अखिलेश यादव पर ओवैसी ने कहा कि अखिलेश ने आरक्षण का झूठा वादा किया है.अखिलेश यादव की सरकार में फायदा सिर्फ यादव परिवार को हुआ है। लोकसभा में पूरा परिवार जीता. सैफई में दस बब्बर शेर लाये, जब वह बीमार पड़े तो लंदन से डॉक्टर बुलाये, उनके पानी पीने के लिए अलग से ट्रीटमेंट प्लान्ट लगाया. उन्होंने पूछा, क्या प्रदेश में सबको साफ़ पानी मिलता है, गंदा पानी पीने से बच्चे बीमार पड़ते हैं तो तकलीफ नही होती लेकिन साफ पानी सैफई के जानवरों को पिलाया जा रहा है.

एआईएमआईएम चीफ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो सबका नहीं सिर्फ हिंदुत्व का विकास चाहते हैं. ओवैसी ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार ने बाबरी के आरोपियों को सजा की जगह मंत्रालय दे दिया है. उन्होंने मुरली मनोहर जोशी को पद्म विभूषण पर सवाल उठाते हुए कहा कि जोशी पर धर्म विशेष के मुद्दे को लेकर मुकदमा चल रहा है. इससे ये साबित होता है कि मोदी सेक्युलरिज़्म का मतलब हिन्दुत्व का विकास बताना चाहते हैं. उमा भारती पर भी बोले कि धर्म विशेष के मुद्दे पर जिस पर मुकदमा है उसे गंगा की सफाई की मंत्री बना दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles