नई दिल्‍ली: अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सोमवार को राज्यसभा में बताया कि अल्पसंख्यक शैक्षिक संस्थाओं में अल्पसंख्यक समुदायों के निर्धन आय वर्ग के छात्रों के लिये आरक्षण का कोई प्रावधान नहीं है.

नकवी ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक पूरक प्रश्न के उत्तर में बताया कि निर्धन आय वर्ग में एक से ढाई लाख रुपये सालाना आय वाले छात्र विभिन्न योजनाओं के तहत निर्धारित मानकों को पूरा करने के बाद ही इन संस्थाओं में दाखिले के लिये पात्र होते हैं.

उन्होंने स्पष्ट किया कि इन संस्थाओं में अल्पसंख्यक समुदायों के निर्धन आय वर्ग के छात्रों के लिये आरक्षण की कोई व्यवस्था नहीं है. हालांकि मंत्री ने बताया कि सूचीबद्ध अल्पसंख्यक समुदायों में शामिल मुस्लिम, बौद्ध, इसाई, जैन, सिख और पारसियों के निर्धन आय वर्ग के छात्रों की सहायतार्थ कुछ योजनायें चलायी जा रही हैं.

इनमें केन्द्र द्वारा संचालित तीन छात्रवृत्ति योजनायें शामिल हैं. नकवी ने बताया कि पिछले पांच साल में 3.20 करोड़ रुपये छात्रवृत्ति के तौर पर इन छात्रों को दिए गए हैं. इनमें 60 प्रतिशत लाभार्थी बालिकायें हैं. (भाषा)

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन