ओवैसी को मिला जवाब – सनातन संस्था, हिंदू जंगगुर्ती पर प्रतिबंध का कोई प्रस्ताव नहीं

7:33 pm Published by:-Hindi News

आतंकी गठिविधियों में लिप्त हिंदूवादी संगठन सनातन संस्था, हिंदू जंगगुर्ती पर केंद्र की मोदी सरकार की बैन लगाने की मंशा नहीं है। केंद्र ने इस की ज़िम्मेदारी महाराष्ट्र सरकार पर डाल दी है।

दरअसल, AIMIM प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में गृह मंत्रालय से सनातन संस्था पर बैन से जुड़ा सवाल पूछा। उन्होने पूछा कि महाराष्ट्र ATS की चार्जशीट के आधार पर क्या सरकार हिंदूवादी संगठन सनातन संस्था, हिंदू जंगगुर्ती पर बैन लगाने पर विचार कर रही है। अगर हां, तो अभी तक इसकी क्या डिटेल हैं. क्या भारत सरकार, देश की सुरक्षा को लेकर कदम उठाते हुए इन संगठनों को बंद करेगी।

जिसका जवाब देते हुए गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी ने कहा कि ये मामला महाराष्ट्र ATS से जुड़ा है, इसलिए राज्य सरकार ही इस पर कोई फैसला कर सकती है। जहां तक रही केंद्र की बात तो अभी तक ऐसा कोई भी प्रस्ताव केंद्र सरकार को नहीं दिया गया है। बता दें कि महाराष्ट्र एटीएस ने कुछ माह पहले राज्य के कई शहरों से छापा मारकर बड़ी मात्रा में हथियार और बम बनाने की सामग्री बरामद की थी। साथ ही इनसे जुड़े लोगों को गिरफ्तार किया था।

नालासोपारा विस्फोटक बरामदगी मामले में दायर आरोपपत्र में एटीएस  ने दावा किया कि सनातन संस्था, हिंदू जनजागृति समिति और इसी तरह के संगठनों से जुड़े लोगों ने सनातन संस्था की किताब ‘शास्त्र धर्म साधना’ से प्रेरित होकर हिंदू राष्ट्र के निर्माण के लिए एकजुट होकर आतंकी गिरोह तैयार किया था।

छह हजार पन्नो के आरोपपत्र में एटीएस ने बताया है कि इसी साल 7 अगस्त को पुलिस इंस्पेक्टर विश्वासराव को जानकारी मिली कि पुणे, सातारा, सोलापुर और नालासोपारा में रहने वाले कुछ लोग मुंबई और पुणे में आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं। इसके बाद नालासोपारा में रहने वाले वैभव राऊत, शरद कलसकर और पुणे के सुधन्वा गोंधलेकर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया।

राऊत और कलसकर के घर की तलाशी के दौरान कलसकर के घर हाथ से बम बनाने का तरीका लिखी दो चिट्ठियां मिली जबकि राऊत के घर 20 जिंदा देसी बम, 2 जिलेटिन छड़ें, 4 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर्स, 22 नॉन इलेक्ट्रिक डेटोनेटर्स, सेफ्टी फ्यूज वायर, 2 पूरे 1 अधूरा पीसीबी सर्किट, 6 बैटरी कनेक्टर, 6 ट्रांजिस्टर्स, चार रिले स्विच, जहर की एक-एक लीटर की दो बोतलों समेंत कई सामान बरामद किए गए। तीनों आरोपियों से पूछताछ में साफ हुआ कि बरामद सामान आतंकी हमलों के लिए इकठ्ठा किया गया था।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें