अमेठी | उत्तर प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनावो में कांग्रेस को जीत दिलाने के लिए राहुल गाँधी भ्रषक प्रयास कर रहे है. वो प्रदेश में रोजाना एक या दो रैलियों को संबोधित कर रहे है. इसी दौरान प्रधानमंत्री मोदी और उनके बीच एक जुबानी जंग भी चल रही है. एक तरफ से वार होता है तो अगले ही दिन पलटवार भी हो जाता है. अब चुनावो के के केवल तीन चरण बाकी है लेकिन जुबानी जंग का दौर कब थमेगा यह कहना मुश्किल होगा.

इसी बीच अमेठी में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गाँधी ने बीजेपी और आरएसएस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने दोनों ही संगठनो को याद दिलाया की देश की आजादी में उनका कोई योगदान नही रहा. उन्होंने कहा की देश की आजादी में अविस्मर्णीय योगदान देने वाले एक भी महापुरुष का वास्ता न बीजेपी से था और न ही संघ से. इसलिए उनके पास देश की आजादी में योगदान के नाम पर बताने के लिए कुछ नही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राहुल ने आगे कहा की इन्होने देश को न महात्मा गाँधी दिया और न ही सरदार पटेल. राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी पर बाँटने की राजनीती करने का आरोप लगाते हुए कहा की ये लोग केवल तोड़ने की राजनीती करना जानते है. धर्म को धर्म से और जाति को जाति से लड़ाना मोदी जी की आदत बन चुकी है. जब से हमारा और अखिलेश जी का गठबंधन हुआ है , तभी से उनका चेहरा लटक गया है.

राहुल ने मोदी पर धुर्विकरण की राजनीती करने का आरोप लगाते हुए कहा की गठबंधन होते ही मोदी जी ने तोड़ने वाली राजनीती उत्तर प्रदेश में भी शुरू कर दी. लेकिन मैं मोदी जी को वो गाना याद दिलाना चाहता हूँ की ‘ना हिन्दू बनेगा ना मुसलमान बनेगा, इंसान की औलाद है इंसान बनेगा’ और कहना चाहता हूँ की वो आरएसएस की विचारधारा वाला हिन्दुस्तान कभी नही बना सकेंगे.

राहुल ने मोदी पर झूठे वादे करने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा की मोदी जी जहाँ भी जाते है एक नया वादा कर देते है. लेकिन वो झूठे वादे करते है जो कभी पुरे नही होते. वो कहते है की हम किसानो का कर्ज माफ़ करेंगे. अगर ऐसा है तो केंद्र में वो बैठे है, अपने कैबिनेट की मीटिंग बुलाये और तुरंत फैसला करे की हम उत्तर प्रदेश के किसानो का कर्ज माफ़ कर रहे है. वो चुनावो में वादा करने का इंतजार क्यों करते है?

Loading...