नीतीश और नरेंद्र मोदी की आशिकी लैला-मजनू जैसी: असदुद्दीन ओवैसी

5:52 pm Published by:-Hindi News

बिहार में जनाधार बढ़ाने की कोशिश कर रहे एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार की सियासी दोस्ती को लेकर करारा तंज़ कसा है। ओवैसी ने कहा है कि नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी की आशिकी लैला-मजनूं जैसी है।

ओवैसी ने कहा कि इस आशिकी की दास्तान जब भी लिखी जाएगी तो इसमें लिखा जाएगा इनकी आशिकी के दौरान हिन्दुस्तान में हिन्दू-मुसलमान के बीच नफरत पनपी। असदुद्दीन ओवैसी ने एक रैली संबोधित करते हुए कहा कि नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी की आशिकी बड़ी मजबूत आशिकी है, लैला-मजनूं से भी ज्यादा मोहब्बत इन दोनों में है। नीतीश कुमार और मोदी की मोहब्बत की दास्तान जब लिखी जाएगी, मुझसे मत पूछिए इसमें लैला कौन है और मजनूं कौन है, ये आप तय कीजिए।

ओवैसी ने आगे कहा कि लैला और मजनूं सुनो जब तुम्हारी मोहब्बत की दास्तान लिखी जाएगी, तो मोहब्बत का नाम नहीं लिखा जाएगा उस दास्तान में, तुम्हारी दास्तान में नफरत का नाम लिखा जाएगा, इसमें लिखा जाएगा कि जब से ये दोनों एक साथ आए…हिन्दुस्तान में हिन्दू-मुस्लिम तनाव है।

इस दौरान उन्होने कांग्रेस पार्टी पर खूब हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी मुसलमानों को बीजेपी का डर दिखाकर वोट मांग रही है जबकि उसके शासन में ही भागलपुर दंगे और बाबरी मस्जिद के परिसर को खोलने जैसे अत्याचार हुए थे।

मुस्लिम बहुल संसदीय सीट किशनगंज में अपनी पार्टी के उम्मीदवार की रैली को संबोधित करते हुए हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा, ‘‘मैंने आप लोगों को 2015 के विधनासभा चुनाव के दौरान आगाह किया था कि तथाकथित महागठबंधन के वादों के झांसे में न आएं। आपने ध्यान नहीं दिया और नीतीश कुमार को वोट दिया, जो अब बीजेपी की गोद में बैठे हैं।’’

ओवैसी ने कहा, ‘‘आपको वही गलती दोबारा नहीं करनी चाहिए। हाथ (कांग्रेस का चुनाव चिन्ह) वाले कुछ और नहीं फिर से बीजेपी का डर दिखाकर आपसे वोट मांग रहे हैं। आपको यह नहीं भूलना चाहिये कि भागलपुर दंगों और बाबरी मस्जिद खोले जाने के समय यही पार्टी बिहार और केन्द्र में सत्ता में थी।’’

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें