Tuesday, September 28, 2021

 

 

 

कांग्रेस का गडकरी से सवाल – हनुमान की जाति बताने वालों को कब पीटेंगे ?

- Advertisement -
- Advertisement -

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि उनके क्षेत्र में जातिवाद के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि उन्होंने चेतावनी दी हुई है कि जाति के बारे में बात करने वाले की वह “पिटाई” करेंगे। भाजपा नेता के इस बयान को कांग्रेस ने मोदी पर हमला बताया है। साथ ही केंद्रीय मंत्री से पूछा कि वे हनुमान जी की जाति बताने वालों को कब पिटेंगे।

मध्य प्रदेश कांग्रेस के ऑफिशियल टि्वटर अकाउंट से ट्वीट कर कहा गया, “गडकरी ने फिर किया मोदी और भाजपा पर सीधा हमला: भाजपा नेता नितिन गडकरी ने भाजपा की मूल राजनीति के खिलाफ बयान दिया है। कहा- ‘कोई जातिवाद की बात करेगा तो मै उसकी पिटाई कर दूंगा..!’ गडकरी जी, हनुमान जी की जाति बताकर वोट माँगने वालों की पिटाई कब करेंगे..?”

बता दें कि पिंपड़ी चिंचवाड़ में पुनरुत्थान समरसता गुरुकुलम द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि समाज को आर्थिक और सामाजिक समानता के आधार पर साथ लाना चाहिए और इसमें जातिवाद और सांप्रदायिकता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए। नागपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले गडकरी ने कहा, “हम जातिवाद में यकीन नहीं करते हैं। मुझे नहीं पता कि आपके यहां क्या है लेकिन हमारे पांच जिलों में जातिवाद की कोई जगह नहीं है क्योंकि मैंने सभी को चेतावनी दी हुई है कि अगर कोई जाति की बात करेगा तो मैं उसकी पिटाई कर दूंगा।”

हाल ही में गडकरी अपने कई बयानों के लिए चर्चा में रहे हैं। जिसमें उनका एक पिटाई वाला बयान भी शामिल है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बीते महीने मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान नेताओं को लेकर ऐसा ही बयान दिया था, जिसकी मीडिया में काफी चर्चा हुई थी। उन्होंने कहा कि जनता को सपने दिखाने वाले नेता अच्छे लगते हैं लेकिन सपने पूरे नहीं हुए तो जनता पिटाई भी करती है। उनके इस बयान के बहाने विपक्ष ने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा था। बीजेपी, केंद्रीय मंत्री के इस बयान से बचाव की मुद्रा में आ गई थी।

गौरतलब है कि राजस्थान विधानसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनावी अभियान के दौरान हनुमान जी को दलित, वनवासी, गिरवासी और वंचित बताया था। इसके बाद विवाद गहराता चला गया। यूपी के मेरठ में बीजेपी व्यवसायिक प्रकोष्ठ के नेता विनीत अग्रवाल ने दावा किया कि भगवान राम और हनुमान वैश्य समाज से थे। वहीं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल के सदस्य रघुराज सिंह ने हुनमान जी को ठाकुर करार दिया था। यूपी में धार्मिक कार्यों के मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने हनुमान जी को जाट बताया था और तर्क दिया था कि जो दूसरों के फटे में टांग अड़ाए, वही जाट है। इसके अलावा बीजेपी के विधायक बुक्कल नवाब ने तो हनुमान जी को मुसलमान तक बता दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles