नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख डॉ. कफील खान की रिहाई की मांग की है।

प्रियंका ने अपने लेटर में लिखा, ‘मुख्‍यमंत्री महोदय, इस पत्र के माध्‍यम से डॉक्‍टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं।’ ये अब तक लगभग 450 से ज्‍यादा दिन जेल में गुजार चुके हैं। डॉ कफील ने कठिन परिसिथतियों में निस्‍वार्थ भाव से लोगों से लोगों की सेवा की है।’

उन्‍होंने अपने लेटर में आगे लिखा-मुझे उम्‍मीद है क आप संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ. कफील को न्‍याय दिलवाने का पूरा प्रयास करेंगे। मुझे अशा है कि गुरु गोरखनाथ जी की यह सही आपको मेरे इस निवेदन को मानने के लिए प्रेरित करेगी।

इसके साथ ही उन्होंने गुरु गोरखनाथ के एक कथन का हवाला देते हुए लिखा ”मन में रहिणां, भेद न कहिणां, बोलिबा अमृत वाणी, अगिला अगनी होईबा, हे अवधू तौ आपण होईबा पाणीं। इन पंक्तियों का भावार्थ है कि किसी से भेद न करो, मीठी वाणी बोलो, यदि सामने वाला आग बनकर जला रहा है तो हे योगी तुम पानी बनकर उसे शांत करो।”

गौरतलब है कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के सिलसिले में कफील खान को गिरफ्तार किया गया था। फिलहाल कफील खान मथुरा जिला कारागार में बंद हैं। इससे पहले वह अगस्‍त 2017 में गोरखपुर अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई खत्‍म होने से आईसीयू विभाग में भर्ती कई नवजात और बच्‍चों की जान ऑ‍क्‍सीजन सिंलेडर का इंतजार कर बचाने को लेकर चर्चा में आए थे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन