नोटबंदी के फैसले के खिलाफ कांग्रेस ने आज जनवेदना सम्मेलन किया. इस सम्मलेन में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने नोटबंदी के फैसले को अर्थव्यवस्था के लिए घातक करार देते हुए कहा कि मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले ने  अर्थव्यवस्था को तगड़ा  झटका दिया है.

उन्होंने कहा, सरकार का पिछले दो साल में राष्ट्रीय आय बढ़ने का सरकारी प्रोपेगेंडा बिलकुल झूठा है. अर्थशास्त्रियों का अनुमान है कि जीडीपी दर गिरकर 6 फीसदी तक पहुंच सकती है. जीडीपी घटने पर रोजगार, उत्पादन और किसानों की आमदनी पर विपरीत असर पडेगा. नोटबंदी ने अर्थव्यवस्था को बद से बदतर बनाया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पूर्व प्रधानमंत्री ने आगे कहा, मोदी जी लगातार कहते रहे हैं कि वो देश की उन्नति और अर्थव्यवस्था को बूस्ट करने आये हैं पर इतने दिनों को देखने के बाद पता चला कि उनके वादे खोखले हैं. उनकी पॉलिसी को देश ने सिरे से नकार दिया है. देश की इनकम गिर रही है. नोटबंदी देश के लिए आपदा के समान है. देश एक बुरी स्थिति से गुजर रहा है और इसका सबसे बुरा समय आना बाकी है.

मनमोहन ने कहा कि ये एक अंत की शुरुआत है. मोदी सरकार ने देश को बुरी स्थिति में ढकेल दिया है और ये कांग्रेस के हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि हम देश को इस निर्णय से बचाए.

Loading...