महाराष्ट्र में सरकार बनाने और मुख्यमंत्री को लेकर चल रही बहस के बीच एनसीपी नेता नवाब मलिक का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा।

उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री पद को लेकर ही शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के बीच विवाद हुआ था, ऐसे में तो मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। इसके साथ ही एनसीपी ने शिवसेना के नेता संजय राउत की बात पर भी मुहर लगा दी। संजय राउत ने दावा किया था कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री हर हाल में शिवसेना का ही होगा।

नवाब मलिक ने कहा, “अगर मिनिमम प्रोग्राम पर सहमति बन जाती है तो उसके बाद फॉर्मूले पर बात होगी। सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा क्या? मुख्यमंत्री के पद को लेकर ही शिवसेना और बीजेपी के बीच विवाद पैदा हुआ। निश्चित रूप से मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा। शिवसेना को अपमानित किया गया है और हमारी जिम्मेदारी बनती है कि उनका स्वाभिमान और सम्मान बनाए रखें।

वहीं शिवसेना नेता संजय राउत लगातार अपनी पार्टी का सीएम बनाने का दावा कर रहे हैं। उन्होंने एक बार फिर कहा है कि महाराष्ट्र में अब जो भी सरकार बनेगी, वो शिवसेना के नेतृत्व में ही बनेगी। एनसीपी के साथ रिश्तों और विचारधारा के सवाल पर नवाब मलिक ने कहा, ”क्या होती है विचारधारा। कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में राज्य के हित की बात होती है। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार भी कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर चली थी। कई विचारधारा वाले लोग उसमें एक साथ आए थे और देश को चलाया था।”

गौरतलब है कि शुक्रवार को ही ये बात सामने आई है कि तीनों पार्टियों के बीच मिनिमम कॉमन प्रोग्राम पर मुहर लग गई है। इस फॉर्मूले के तहत अगले पांच साल मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा, बल्कि एनसीपी और कांग्रेस को 1-1 डिप्टी सीएम दिया जाएगा। इसके अलावा मंत्री पद के लिए तीनों पार्टी में 14-14-12 का फॉर्मूला सामने आ रहा है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन