पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्री पद से जैसे ही इस्तीफा दिया आम आदमी पार्टी (आप) ने सिद्धू को अपने साथ शामिल करने की कोशिशें तेज कर दी है।

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और पंजाब विधानसभा में विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के मंत्री पद से इस्तीफे को लेकर आज कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू को अब तुरंत ‘भ्रष्ट पार्टी’ कांग्रेस से भी किनारा कर लेना चाहिए। चीमा ने पार्टी मुख्यालय में मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि कहा कि उनकी पार्टी सिद्धू का स्वागत करेगी क्योंकि वह पंजाब के जवानों, किसानों, दलितों, व्यापारियों, उद्योगपतियों, कर्मचारियों, बेरोजगारों के हक में माफिया राज के विरुद्ध डटने का जज़्बा रखते हैं।

वार्ता के मुताबिक, आप नेता हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि सिद्धू की साफ-सुथरी राजनीतिक छवि और मंत्री के तौर पर उनका बादलों के दस सालों के ‘माफियाराज’ समेत बेअदबी के मामले में बादलों के विरुद्ध बेबाकी के साथ बोलना मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को रास नहीं आ रहा था। चीमा ने कहा कि आम लोगों में सिद्धू के बढ़ते राजनैतिक कद को कैप्टन अपनी कुर्सी के लिए भी खतरा समझने लगे थे इसलिए सिद्धू को लगातार अपमानित किया जा रहा था और आखिर उन्हें इस्तीफे के लिए मजबूर कर दिया गया।

aap1

चीमा ने आगे कहा कि बेहतर होता सिद्धू बतौर ऊर्जा मंत्री अपना पद संभाल कर पिछली बादल सरकार के दौरान सार्वजनिक थर्मल प्लांट बंद करके निजी कंपनियों के साथ किए गये महंगे और नाजायज शर्तों वाले समझौते रद्द करते और बादलों के बिजली माफिया को नंगा करते और इसे भी सामने लाते कि कैप्टन निजी थर्मल कंपनियों के साथ हुए समझौते को रद्द करने से पीछे क्यों हटे? चीमा ने कहा कि सिद्धू ने प्रदेशवासियों को राहत देने का मौका गंवा दिया है।

वहीं सिद्धू के इस्तीफा देने को लेकर जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्लाह ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है। उमर ने लिखा है पंजाब ही एक ऐसा राज्य है जहां कांग्रेस की सरकार है फिर भी कांग्रेस अपनी मदद नहीं कर पा रही है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा कांग्रेस को चारो तरफ से घेर रही है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन