Monday, May 16, 2022

कांग्रेस महाधिवेशन में राहुल गांधी बोले – ‘2019 की जंग कौरव बनाम पांडव’

- Advertisement -

नई दिल्ली: कांग्रेस के 84वें महाधिवेशन के आखिरी दिन रविवार को संबोधित करते हुए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, ‘भाजपा एक संगठन की आवाज है और कांग्रेस एक राष्ट्र की आवाज है।’

राहुल ने महाभारत का जिक्र करते हुए 2019 के चुनावी संग्राम का बिगुल भी बजा दिया। राहुल ने कहा कि कौरवों की तरह भाजपा सत्ता की लड़ाई लड़ने के लिए ही बनी है जबकि सत्य के लिए संघर्ष करना कांग्रेस की बुनियाद है। भाजपा को एक संगठन की आवाज तो कांग्रेस को देश की आवाज है।

उन्होंने कहा, ‘सदियों पहले कुरुक्षेत्र के क्षेत्र में बड़ी लड़ाई हुई थी। कौरव शक्तिशाली और अभिमानी थे। पांडव नम्र थे और सच्चाई के लिए लड़े थे। कौरवों की तरह बीजेपी और आरएसएस की तरह हैं जो ताकत के लिए लड़ते हैं और कांग्रेस पांडवों की तरह है जो सच के लिए लड़ती है।’

राहुल ने कहा, ‘बीजेपी और आरएसएस कौरवों की तरह ही ताकत के लिए लड़ने के लिए बनी हैं। पांडवों की तरह कांग्रेस सच्चाई के लिए लड़ने के लिए बनी है।’  उन्होंने कहा कि इसीलिए हत्या के आरोपी को भी भाजपा अध्यक्ष बना दे तो स्वीकार कर लिया जाता है लेकिन कांग्रेस का कोई ऐसा कदम देश स्वीकार नहीं करेगा और हमें दंडित करेगा। क्योंकि कांग्रेस को देश ने सियासी पायदान के मानक पर सबसे ऊंचा रखा है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘प्रधानमंत्री हमारा ध्यान भटकाते हैं और एक इवेंट से दूसरे इवेंट पर चले जाते हैं। वो कभी मुद्दों पर बात नहीं करते, लेकिन, कांग्रेस को सच्चाई और न्याय की मांग करने से रोका नहीं जा सकता।’ उन्होंने कहा, ‘वे मुसलमानों से कहते हैं कि वे इस देश के नहीं हैं। वह तमिल को कहते हैं कि आप अपनी भाषा बदलें, वे नॉर्थ-ईस्ट के लोगों से कहते हैं कि कि आप जो खाते हैं वो हमें वह पसंद नहीं, वे महिलाओं को ठीक से कपड़े पहने को कहते हैं।’

राहुल गांधी ने कहा कि युवाओं का मोदी पर से भरोसा टूट गया है। हमने ये स्टेज युवाओं के लिए खाली रखा है। अगर हिंदुस्तान को बदलना है तो हर जाति हर धर्म के लड़के, लड़कियों को समझना होगा कि सिर्फ वही इस देश को बदल सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी और आरएसएस में ये बड़ा फर्क है कि हम हिंदुस्तान की सभी संस्थाओं की इज्जत करते हैं वे उसे खत्म करना चाहते हैं। हम अपनी गलती मान लेते हैं, लेकिन वे नहीं मानते। हम इंसान हैं, हमसे गलतियां होती हैं और मोदीजी को लगता है कि वह इंसान नहीं हैं बल्कि भगवान का रूप हैं।’

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles