ripun

कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा ने राज्यसभा में प्राइवेट मेंबर रिज्योलूशन पेश कर देश के राष्ट्रगान में बदलाव की मांग की है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रगान में ‘सिंध’ की जगह ‘पूर्वोत्तर भारत’ को शामिल किया जाए.

बोरा ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, ”उत्तर-पूर्व भारत का महत्वपूर्ण हिस्सा है, दुर्भाग्य है कि यह राष्ट्रगान का हिस्सा नहीं है जबकि सिंध का उल्लेख किया गया है, जो अब भारत का हिस्सा नहीं है बल्कि पाकिस्तान का हिस्सा है, जो कि एक शत्रुतापूर्ण देश है.”

उन्होंने प्राइवेट मेंबर रिज्योलूशन में कुछ बिंदुओं के जरिए दावा किया कि ”भारत के राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ में सिंध का उल्लेख किया गया है जो कि अब भारत का हिस्सा नहीं है. उत्तर-पूर्व भारत का अहम हिस्सा है, उसका राष्ट्रगान में कहीं उल्लेख नहीं है.”

साथ ही उन्होंने कहा कि ”तत्कालीन राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने 24 जनवरी 1950 को संविधान सभा में कहा था जिन शब्दों और संगीत से मिलकर जन गण मन राष्ट्रगान बना है, समय के साथ सरकार उसके शब्दों को बदलने का अधिकार रखती है.”

कांग्रेस नेता ने रिज्योलूशन में लिखा कि यह सदन सरकार से आग्रह करता है कि राष्ट्रगान से सिंध शब्द को हटा देना चाहिए और उसकी जगह नॉर्थ-ईस्ट इंडिया को राष्ट्रगान में शामिल करना चाहिए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें