केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने राजस्थान के राजसमंद में मुस्लिम बुजुर्ग मुहम्मद अफ्जरुल की हत्या के मामले में कहा कि इसको धर्म विशेष से जोड़े जाना गलत है.

एक कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा कि राजस्थान सरकार ने इस मामले में जरूरी कार्रवाई की है. उन्होंने कहा कि अपराध अपराध होता है और अपराधी के साथ उसी तरह का बर्ताव किया जाना चाहिए. वह इसे संप्रदाय का जामा पहनाने को गलत मानते हैं और इससे सबको नुकसान हाेगा.

ध्यान रहे राजसमंद निवासी शंभूलाल रेगर नाम के एक शख्स ने पश्चिम बंगाल के रहने वाले मोहम्मद अफरजुल की तलवार से काट कर हत्या कर दी. इस दौरान उसने उसने हैवानियत की हदे पार करते हुए न केवल अफरजुल पर कुल्हाड़ी से 25 से ज्यादा वार किये बल्कि उसकी गर्दन काटने के बाद तडपते हुए उसे पेट्रोल डाल कर जलाया.

उसने इस पूरी वारदात का उसने वीडियो भी वायरल किया. जिसमे वह मुस्लिमों को ललकारते हुए कह रहा है कि ”ये तुम्हारी हालत होगी… ये लव जिहाद करते हैं हमारे देश में… हमारे देश में ऐसा करोगे तो हर जिहादी की हालत ऐसी ही होगी… जिहाद खत्म कर दो…”

इस सबंध में न्याय की मांग करते हुए अफजरुल की पत्नी गुल बहार ने कहा कि ‘हम चाहते हैं कि जिन्होंने बेरहमी से मेरे पति का कत्ल किया है और इसे दुनिया को दिखाया है उन्हें फांसी हो, मुझे इंसाफ चाहिए. वह सिर्फ इसलिए मारा गया क्योंकि वो एक मुस्लिम था.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें