भारत में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिमों को देश से निकाले जाने को लेकर मोदी कैबिनेट के इकलोते मुस्लिम मंत्री ने हाथ ऊँचे करते हुए कहा कि सरकार के लिए रोहिंग्या मुस्लिमों को कोई भी छुट देना मुश्किल होगा.

शनिवार को पटना के ज्ञान भवन में आयोजित पार्लियामेंटेरियन कॉन्क्लेवै को संबोधित करते हुए मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह मामला उच्चतम न्यायालय के समक्ष लंबित है और सरकार भी इस मामले को देख रही है. ऐसे में जब उनके देश ने उन्हें अपने यहां रखने से इनकार कर दिया है, मुझे नहीं लगता कि हम उन्हें (रोहिंग्या मुसलमान) कोई छूट दे पायेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे रोहिंगा मुस्लिमों को देश से निकाले जाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में आरएसएस नेता गोविंदाचार्य ने याचिका दायर कर देश की सुरक्षा के लिए खतरा करार दिया है. साथ ही ऐसे समय में म्यांमार भेजने की मांग की है जबकि वहां पहले से ही रोहिंग्या मुस्लिमों पर हिंसा जारी है.

गोविंदाचार्य ने अपनी याचिका में कहा कि ‘राजधानी दिल्ली में रोहिंग्या मुस्लिमों की जनसंख्या बढ़ती जा रही है. ऐसे में फिर से विभाजन जैसे हालत हो रहे हैं. दिल्ली में देश की जनता भूखी मर रही है. देश की जनता को उसका अधिकार नहीं मिल रहा है. साथ ही उन्होंने रोहिंग्या मुस्लिमों के सबंध आतंकी संगठनों से जोड़े.

उन्होंने कहा, कई रोहिंग्या मुस्लिम अल क़ायदा से मिले हुए हैं. ऐसे में अल क़ाएदा उनका इस्तेमाल कर देश में कहीं भी हमले करवा सकता है. देश की सुरक्षा सबसे पहले है.

Loading...