Wednesday, January 19, 2022

नकवी ने हिंदू-मुस्लिमों से अयोध्या फैसले का सम्मान करने की अपील

- Advertisement -

अयोध्या मामले पर फैसले से पहले अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेताओं ने और प्रमुख मुस्लिम संगठनों से मुलाकात की।

नकवी के आवास पर आयोजित इस बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संयुक्त सचिव कृष्ण गोपाल और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व संगठन सचिव रामलाल सहित मुस्लिम पक्ष के प्रभावशाली लोग शामिल रहे। बैठक में हिंदू और मुस्लिम पक्ष के वरिष्ठ प्रतिनिधियों से आग्रह किया गया कि शीर्ष अदालत के फैसले का सम्मान किया जाना चाहिए।

मुस्लिम पक्ष की ओर से जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव महमूद मदनी, पूर्व सांसद शाहिद सिद्दीकी, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य कमाल फारूकी, फिल्म निर्माता मुजफ्फर अली और कुछ अन्य लोगों ने भी मौजूदगी दर्ज कराई।

बैठक के बाद नकवी ने कहा- आज एक ऐतिहासिक बैठक हुई, जिसमें मुस्लिम धर्मगुरु और बुद्धिजीवी शामिल हुए। इस बात पर जोर दिया गया कि हर हाल में देश में अखंडता और भाईचारा मजबूत बनाए रखा जाए। कहीं पर भी जीत का जुनूनी जश्न और हार का हाहाकारी हंगामा नहीं होना चाहिए, उससे बचना चाहिए।

वहीं शाहनवाज हुसैन ने कहा- बैठक में फैसला हुआ कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सभी को मान्य होगा। यह फैसला देश को मजबूत करेगा। आज की बैठक से एकता का संदेश निकला है। आरएसएस नेताओं और मुस्लिम समुदाय के बीच आज शुरु हुआ संवाद भविष्य में भी जारी रहेगा।

प्रमुख शिया धर्मगुरु कल्बे जवाद ने सद्भाव बनाए रखने के लिए नकवी के प्रयासों की सराहना की और आश्वासन दिया कि विविधता में एकता के पाठ को मस्जिदों के माध्यम से प्रचारित किया जाएगा। उन्होंने यह भी उम्मीद की कि अयोध्या के फैसले से पहले हिंदू पक्ष के अधिक सदस्यों के साथ एक और बैठक होगी। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा, इस बैठक में सभी ने सहमति जताई कि फैसले से देश और उसके भाईचारे को मजबूती मिलेगी।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles