Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

अयोध्या विवाद पर बोले नकवी- टकराव नहीं बल्कि दोस्ताना हल चाहते हैं मुसलमान

- Advertisement -
- Advertisement -

अयोध्या विवाद को लेकर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रविवार को कहा कि इस मुद्दे पर सरकार का जो रुख होगा, वही मेरा भी रुख होगा। सरकार ने इस मुद्दे पर अब तक कुछ नहीं कहा है। उन्होंने कहा कि यह मुद्दा जल्द से जल्द सुलझाया जाना चाहिए।

पीटीआई-भाषा को दिए एक इंटरव्यू में यह पूछे जाने पर कि इस विवादित मुद्दे को मुस्लिम समुदाय किस तरह देखता है, इस पर अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने कहा, ‘‘एक आम मुसलमान अमन-चैन और दोस्ताना हल चाहता है। एक आम मुसलमान में सामाजिक एकता को नुकसान पहुंचाने वाली टकराव की भावना नहीं होती।’

मंदिर के मुद्दे पर मुस्लिमों की तरफ से कोई प्रतिकूल बयान नहीं आने के बारे में पूछे जाने पर नकवी ने कहा, ‘‘मुस्लिम समुदाय बहुत ही शांतिप्रिय समुदाय है। वह खुद को किसी विध्वंसक एजेंडा में शामिल नहीं करना चाहता।’’

babri masjid

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग, कुछ राजनीतिक पार्टियां अपने हित के लिए लोगों को उकसाने की कोशिश कर सकती हैं। लिहाजा, लोगों को लगता है कि इसका शांतिपूर्ण समाधान होना चाहिए और यह (मामला) खत्म होना चाहिए।’’ नकवी ने विपक्ष के इस दावे को खारिज कर दिया कि बीजेपी और इसके हिंदुत्ववादी सहयोगी अगले साल के लोकसभा चुनावों से पहले जानबूझकर राम मंदिर का मुद्दा उठा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह मामला लंबे समय से अदालत में लंबित है और इससे जुड़े संगठनों को लगा था कि रोजाना सुनवाई होगी और मामले का समाधान जल्द हो जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं होने के कारण वे अपनी मांगें रख रहे हैं।

नकवी ने कहा, ‘‘लोगों की अपनी भावनाएं हैं और एक लोकतंत्र में उनकी अभिव्यक्ति पर प्रतिबंध नहीं लगा सकते। यह सिर्फ संयोग है कि चुनावों से पहले यह हुआ। वरना, यह तो पुराना मुद्दा है।’’ उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में भी राम मंदिर का मुद्दा भाजपा के घोषणा-पत्र में शामिल था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles