विधानसभा चुनावों में मुस्लिम समुदाय के उम्मीदवारों को बीजेपी की और टिकट नहीं दिए जाने के फैसले का बचाव करते हुए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि पार्टी में मुसलमान टिकट के लायक नहीं हैं. इसलिए उन्हें टिकट नहीं दिया गया.

उन्होंने कहा, टिकिट देने का निर्णय पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति लेती है और मैं स्वयं भी उसका एक सदस्य हूं. समिति को यह देखना होता है कि जो कार्यकर्ता टिकट की दावेदारी कर रहा है उसका उस क्षेत्र में क्या प्रभाव है जिस क्षेत्र से वह चुनाव लड़ना चाहता है.

उन्होंने कहा, पार्टी में सभी धर्म, जाति व वर्गों से उम्मीदवारों का चयन किया जाता है। लेकिन उसमें यह भी देखा जाता है कि कौन, कहां से सीट निकाल सकता है.  यदि किसी भी कार्यकर्ता को क्षेत्र विशेष के लिए उपयु समझाा जाता है तो उसे टिकट अवश्य दिया जाता है.

हुसैन ने माना, इस समय पार्टी में ऐसा कोई मुस्लिम कार्यकर्ता नहीं था जिसे जिता उम्मीदवार मानते हुए वर्तमान चुनाव में प्रत्याशी बनाया जाता. भविष्य में यदि कोई मुस्लिम कार्यकर्ता इस स्तर का दावेदार हुआ कि वह सीट निकाल सके, तो उसे अवश्य टिकट दिया जाएगा.

उन्होंने मणिपुर का उदाहरण देते हुए बताया, पार्टी को वहां ऐसा एक मुस्लिम उम्मीदवार अनवर हुसैन मिला तो उसे पार्टी का टिकिट देकर प्रत्याशी बनाया गया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें