rahul gandhi 1

अपनी डूबती नैया को पार लगाने में जुटी कांग्रेस पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव को सॉफ्ट हिन्दुत्व के दम पर जीतना चाहती है। जिसके लिए पार्टी मुस्लिम समुदाय के उम्मीदवारों के टिकट काटने से भी परहेज नहीं कर रही। हालांकि ये कांग्रेस के लिए बड़ी मुसीबत पैदा कर सकती है।

दरअसल, बुधवार को कांग्रेस ने तेलंगाना चुनाव के लिए प्रत्याशियों की दूसरी लिस्ट जारी की। जिसके बाद पार्टी के मुस्लिम नेताओं ने एक साथ पार्टी छोडने की धमकी दे डाली। मुस्लिम नेताओं ने ये फैसला बड़ी संख्या में मुस्लिम उम्मीदवारों के टिकट काटे जाने के बाद लिया है।

कांग्रेस की और से जारी इस लिस्ट में करीब 10 लोगों के नाम गायब हैं। इसमें कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता आबिद रसूल खान का नाम भी नहीं हैं। तेलंगाना कांग्रेस इकाई के वरिष्‍ठ मुस्लिम नेता आबिद रसूल खान ने कहा, अब उनके सामने एक ही विकल्प है कि वह पार्टी छोड़ दें। उन्होंने कहा, कांग्रेस के बेहतर तो बीजेपी है, जो मुस्लिम नेताओं को अच्‍छी डील देती है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

congres

रसूल ने कहा, कांग्रेस ने जो चार सीटें मुस्लिमों को दी हैं, उनमें से तीन हैदराबाद ओल्ड सिटी से हैं। जो असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का गढ़ हैं। यहां किसी अन्य मुस्लिम के लिए सीट निकालना नामुमकिन है। वहीं चौथी सीट कामारेड्डी पर लम्बे समय से पूर्व मंत्री शबीर अली लंबे समय का वर्चस्व है।

उन्‍होंने कहा, हमने राहुल गांधी और तेलंगाना कांग्रेस प्रभारी आरसी खुंटिया से मिलने के लिए समय मांगा था। लेकिन हमें मिलने के लिए समय नहीं दिया गया। हम अपने समुदाय के लोगों के जबरदस्त दबाव में हैं।’ बता दें कि विधानसभा की कुल 119 सीटों में से कांग्रेस 94 पर चुनाव लड़ेगी। इनमें से 75 सीट पर कांग्रेस उम्मीदवारों के काम का ऐलान कर चुकी है। वहीं पार्टी नेता ने तेलंगाना राज्य में अपने समीकरण के हिसाब से 14 सीटें मांग रहे हैं।

Loading...