24 साल बाद एक मंच पर मुलायम-माया, मुलायम ने कहा- मायावती जी का हमेशा सम्मान करना

6:52 pm Published by:-Hindi News

बसपा सुप्रीमो मायावती शुक्रवार को सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के साथ मैनपुरी में चुनाव प्रचार किया। मैनपुरी सीट से मुलायम सिंह गठबंधन के उम्मीदवार हैं। खास बात यह रही कि 24 साल बाद माया-मुलायम एक साथ किसी मंच पर नजर आए।

कभी एक दूसरे को फूटी आंखों न सुहाने वाले मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि वह आखिरी चुनाव लड़ रहे हैं। इसके साथ ही वहां आए लोगों से अपील करते हुए कहा, ‘आप लोग हमेशा मायावती जी का सम्मान करना।’ इससे पहले जब मंच पर मुलायम सिंह यादव को जब पानी दिया गया तो उन्होंने लोगों से भी यह पूछा कि क्या मायावती को पानी दिया गया है नहीं। इसके बाद जब मुलायम सिंह यादव भाषण देने के लिए खड़े हुए तो बीएसपी सुप्रीमो उनके सम्मान खड़ी हो गईं।

अपने भाषण में मुलायम सिंह यादव ने कहा कि वह इस बार उनको ज्यादा से ज्यादा वोटों से जिताएं। सपा संस्थापक ने कहा कि वह मायावती जी का स्वागत करते हैं। मायावती जी ने हमेशा हमारा साथ दिया है, हमें जिता देना, मेरे साथियों को जिताना देना। जैसे ही वह संबोधन खत्म करके कुर्सी की ओर बढ़े, मायावती फिर उनके सम्मान में खड़ी हुईं और अपनी कुर्सी छोड़ दीं।

akhilesh mayawati 10 1489131919

इसके बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने भी अपने भाषण में मुलायम सिंह यादव की जमकर तारीफ की। बसपा सुप्रीमो ने कहा, ‘2 जून 1995 को हुए गेस्ट हाउस कांड के बाद भी लोकसभा चुनाव में गठबंधन का जवाब सभी चाहते होंगे। गेस्ट हाउस कांड के बाद भी सपा-बसपा गठबंधन हुआ। कभी-कभी देशहित में ऐसे फैसले लेने पड़ते हैं। हम सांप्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए एक साथ आए हैं।

उन्होने कहा, उम्र को तकाजे को ध्यान में रखकर मुलायमजी ने फैसला लिया है कि जब तक आखिरी सांस है वह मैनपुरी की सेवा करते रहेंगे। यह मैनपुरी के सच्चे सेवक हैं, नरेंद्र मोदी की तरह नकली सेवक नहीं है। आप लोग मुलायम सिंह को जिताकर संसद भेजिए। मायावती ने अपने भाषण के अंत में कहा- जय भीम, जय लोहिया, जय भारत’

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें