akhileshmulyamshivpalakhileshmulyamshivpal

लखनऊ | समाजवादी पार्टी में चल रही कलह अब अपने अंतिम दौर में पहुँच गयी है. मुलायम और अखिलेश धडा आज चुनाव आयोग पहुंचकर पार्टी सिंबल पर अपना अधिकार सिद्ध करेगा. चुनाव आयोग तय करेगा की पार्टी सिंबल ‘साइकिल’ की सवारी कौन करेगा. क्या यह सिंबल मुलायम सिंह के पास रहेगा या इसको एक नया सवार मिल जाएगा? उधर मुलायम सिंह ने 5 जनवरी को बुलाये गए अधिवेशन को रद्द कर दिया है. इसकी जानकारी शिवपाल ने ट्वीट करके दी.

मिली जानकारी के अनुसार अखिलेश समर्थक और इस पुरे एपिसोड के रचियता रामगोपाल यादव आज चुनाव आयोग जायेंगे और कल हुए राष्ट्रिय अधिवेशन के फैसलों की जानकारी चुनाव आयोग को देंगे. यह इसलिए जरुरी है क्योकि चुनाव आयोग के पास समाजवादी पार्टी की जो जानकारी उपलब्ध है उसमे मुलायम सिंह और उनकी टीम को सर्वेसर्वा दिखाया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चुनाव आयोग पहुंचकर रामगोपाल जरुरी अपडेट कराने की कोशिश करेंगे. लेकिन यह इतना आसान भी नही होने जा रहा. सूत्रों के अनुसार अमर सिंह लन्दन से दिल्ली पहुँच रहे है. उधर मुलायम सिंह भी आज दिल्ली पहुंचेंगे. मुलायम , अमर सिंह और शिवपाल साथ बैठक करेंगे और उसके बाद शिवपाल चुनाव आयोग पहुंचेंगे. यहाँ वो रामगोपाल के निष्कासन और कल हुई संसदीय बोर्ड की बैठक के फैसले से आयोग को अवगत करायेंगे.

ऐसे में गेंद चुनाव आयोग के पाले में रहेगी. जब दोनों गुट ‘साइकिल’ पर अपना अधिकार सिद्ध करने की कोशिश करेगे तो आयोग को यह अधिकार रहेगा की वो पार्टी सिंबल किस गुट को देंगे. अगर विवाद बढ़ा तो आयोग को यह भी अधिकार है की वो पार्टी सिंबल को फ्रीज़ कर दे और दोनों गुटों को नया सिंबल जारी कर दे. मालूम हो की मुलायम पहले ही कल हुए राष्ट्रिय अधिवेशन और उसमे लिए गए फैसले को अवैध ठहरा चुके है.

उधर मुलायम सिंह ने कल, 5 जनवरी को पार्टी का अधिवेशन बुलाने की घोषणा की थी . अब खबर है की यह अधिवेशन रद्द कर दिया गया है. शिवपाल ने आज सुबह ट्वीट करके जानकारी दी, ‘नेताजी के आदेशानुसार , 5 जनवरी को होने वाले अधिवेशन को रद्द कर दिया गया है. सभी नेता और कार्यकर्ता अपने अपने क्षेत्र में चुनाव की तैयारियों में जुटे और जीत हासिल करने के लिए जी जान से मेहनत करे’.

Loading...