बीजेपी के पहले मुस्लिम सांसद मुख्तार अब्बास नकवी को फिर से मिली मोदी कैबिनेट में जगह

11:55 am Published by:-Hindi News

केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री रहे मुख्तार अब्बास नकवी एक बार फिर मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनने में सफल रहे। गुरुवार शाम पौने आठ बजे नकवी ने मोदी मंत्रिमंडल में शपथ ली।

1998 में वह पहली बार रामपुर से भाजपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़े और जीत गए। नकवी देश के ऐसे मुस्लिम नेता हैं जो भाजपा के टिकट पर सबसे पहले लोकसभा सदस्य बने। उनसे पहले कोई भी मुस्लिम नेता भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव नहीं जीता था। नकवी के चुनाव जीतने के बाद ही उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में राज्यमंत्री बनाया गया।

मुख्तार अब्बास नकवी का जन्म 15 अक्टूबर 1957 को इलाहाबाद में हुआ। वह बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं। नकवी ने अपनी शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से प्राप्त की। भारत में आपातकाल घोषित होने पर 1975-77 तक वह जेल में थे। नकवी कभी इंदिरा गांधी को चुनाव में हराने वाले समाजवादी नेता राजनारायण के करीबी थे और उनके प्रभाव में सोशलिस्ट हुआ करते थे। बाद में वह बीजेपी में शामिल हो गए।

bjp

मुख्तार अब्बास नकवी ने पहले बीजेपी के टिकट पर मऊ जिले की सदर विधानसभा सीट से दो बार विधानसभा पहुंचने की कोशिश की पर असफल रहे। 1991 में वह मात्र 133 मतों से सीपीआई के इम्तियाज अहमद से चुनाव हार गए।उसके बाद 1993 के विधानसभा चुनावों में बसपा के नसीम ने लगभग 10000 मतों से उन्हें चुनाव में हरा दिया।

नकवी 1998 में उत्तर प्रदेश की रामपुर संसदीय सीट से भाजपा के पहले मुस्लिम लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुए। वह 2002, 2010, 2016 में राज्यसभा सदस्य चुने गए। वाजपेयी सरकार में सूचना प्रसारण एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री रहे नकवी के कार्यकाल में डायरेक्ट टू होम प्रसारण व्यवस्था एवं भारतीय फिल्म क्षेत्र को उद्योग का अधिकृत दर्जा देने जैसे अहम फैसले किए गए।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें