बीजू जनता दल (बीजद) के नेता तथागत सत्पथी ने कहा कि पीट-पीटकर हत्या से ग्रामीण अर्थव्यवस्था बर्बाद हो गई है. उन्होंने कहा, “किसान अपने बेकार जानवर बेचने में असमर्थ हैं. अर्थव्यवस्था का चक्र रुक गया है. पूरी तरह से ग्रामीण अर्थव्यवस्था बर्बाद हो गई है.”

उन्होंने कहा, “आपने वास्तविक तौर पर पीट-पीटकर हत्या की प्रक्रिया से ग्रामीण अर्थव्यस्था को नुकसान पहुंचा दिया है, आप ने अंतत: हिंदू किसान को भी मारने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, ..आप अल्पसंख्यकों को मारना चाहते हैं, लेकिन आप अनजाने में बहुसंख्यकों को भी जीते जी मार रहे हैं.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सांसद ने कहा कि किसानों को बेकार जानवरों को साथ रखने पर मजबूर किया जा रहा है, जिससे उनके पालन पर पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं, क्योंकि वह उसे कहीं नहीं बेच सकता. उन्होंने कहा, “वास्तव में आपने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को लिंचिंग से तबाह किया है..आपने उस प्रक्रिया की शुरुआत की है, जिसमें अंतत: आप हिंदू किसान की जान लेंगे. अल्पसंख्यकों को मारकर वस्तुत: आप बहुसंख्यकों को मार रहे हैं

सत्तापक्ष को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “किसान बेकार जानवरों को बेचने में अक्षम हैं. आर्थिक चक्र रुक गया है. यह पैसा दूसरा ऋण लेने के लिए उनका प्राथमिक धन हो सकता है, लेकिन अब आपने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है.

सत्पथी ने कहा कि वह किसानों को सलाह दे रहे हैं कि वे अपने बेकार हो चुके जानवरों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं के पास देखभाल के लिए पहुंचा दें.

Loading...