बीएसपी प्रमुख मायावती ने आज सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के गढ़ आज़मगढ़ में महारैली के जरिए पूर्वांचल में चुनावी प्रचार का बिगुल फूंका. रैली में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुएकहा कि अच्छे दिन के वादे बुरे दिन में बदल गए.

उन्होंने आगे कहा, केंद्र की सरकार ने सिर्फ पूंजीपतियों का साथ दिया और गरीबों को नजरअंदाज कर दिया. मोदीजी ने झूठे सपने दिखाए और उत्तर प्रदेश की जनता को ठगा.  उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सांप्रदायिकता बढ़ाने का काम किया है.

मायावती ने कहा, पीएम मोदी ने कहा था कि अच्छे दिन लाएंगे. पीएम मोदी ने जनता से किया वादा पूरा नहीं किया. 2 साल हो गए पीएम मोदी अच्छे दिन नही लाए. गरीबों को सरकारी राशन सस्ता देने को कहा था. 2 साल से ज्यादा हो गया केन्द्र सरकार को क्या हुआ? 2 साल में राशन महंगा हुआ.

बिजली, पानी, गैस, पेट्रोल सस्ता नहीं हुआ. बीजेपी ने 24 घंटे बिजली देने का वादा किया था. बीजेपी ने पक्के मकान देने का वादा किया था. पूर्वांचल के लोगों को केन्द्र ने रोजगार नहीं दिया.

उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा, किसानों की आमदनी क्या दोगुनी हुई. केन्द्र सरकार के आने से बेरोजगारी बढ़ी. मायावती ने यूपी में बीजेपी की खराब हालात का जिक्र करते हुए कहा, “यूपी में बीजेपी की हालत इतनी खराब हो गई है कि वो बीएसपी के रिजेक्टेड माल को भी बिना किसी जांच पड़ताल के लेने को तैयार है.”

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?