Paswan's greeting card Phoonchane three postal workers suspended

गुजरात विधानसभा चुनावों के पहले मोदी कैबिनेट में मंत्री रामविलास पासवान का विवादित बयान सामने आया है. जिसमे उन्होंने ऊना कांड को एक छोटी सी घटना करार दिया.

खाद्य एवं वितरण उपभोक्ता मामलों के मंत्री पासवान ने कहा कि ‘मैं यह कहना चाहता हूं कि अक्सर छोटी-मोटी घटनाएं होती रहती हैं. मेरे बिहार में इस तरह की घटना अक्सर सुनने को मिलती है.  उन्होंने कहा, गुजरात के ऊना में भी ऐसी ही छोटी घटना हुई थी जिस पर काफी बवाल हुआ था लेकिन सरकार का काम ऐक्शन लेना है. इस तरह की घटनाओं पर किस तरह के कदम उठाए गए ये ज्यादा जरूरी है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे मरी गाय का चमड़ा उतारने को लेकर भगवा कार्यकर्ताओं ने चार दलितों की बेरहमी से पिटाई की थी. इस घटना के बाद दलितों ने जमकर प्रदर्शन किया था. इस घटना की वजह से मोदी सरकार को दुनिया भर में शर्मसार होना पड़ा था.

दलित नेता और राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच के संयोजक जिग्नेश मेवाणी ने पासवान के बयान को शर्मनाक बताया. साथ ही उनके इस्तीफे की भी मांग कर दी है. मेवाणी ने कहा, ‘उना में दलितों पर अत्याचार को छोटी घटना बताने वाला पासवान का बयान शर्मनाक और उन दलितों के ज़ख्म पर नमक छिड़कने जैसा है, जिन्हें अर्धनग्न करके पीटा और शहर में घुमाया गया.

 उन्होंने कहा, इस घटना को लेकर राज्य भर में हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान करीब 30 दलितों ने जहर खा लिया, सड़कें और रेल लाइनें ठप रहीं. यह एक निर्मम घटना थी.