hegde

hegde

विवादित बयानों के लिए पहचाने जाने वाले केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने हाल ही अपने ‘संविधान को बदलने’ के बयान पर माफ़ी मांगी है.

दरअसल, गुरुवार को लोकसभा में कार्यवाही शुरू होने के साथ ही कांग्रेस साथ ही कई दलों ने माफ़ी की मांग की थी. जिस पर हेगड़े ने कहा कि उनकी संविधान, बाबा साहब भीम राव अंबेडकर और संसद में पूरी निष्ठा है. इसके बारे में उन्हें कोई भी शक नहीं है. किसी के बारे में उनकी निष्ठा कम नहीं हो सकती है.

हालांकि हेगड़े की माफ़ी को कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडगे और कई नेताओं ने नाकाफी बताया. उन्होंने आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा कि हेगड़े ने जो बयान दिया था, उसे देखते हुए इतना कह देना पर्याप्त नहीं है. इसके बाद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि अगर इस बात से, जिसे गुमराह करके पेश किया गया है, जो बात मैंने कही नहीं, उससे किसी की भावना को ठेस पहुंची है, तो मुझे माफी मांगने में कोई संकोच नहीं है.

इस पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि कभी-कभी जीवन में ऐसा होता है कि आपको अपनी कही बात तो ठीक लगती है लेकिन दूसरों को इससे ठेस पहुंच सकती है. माफी मांगने से कोई छोटा नहीं होता है. इतना तो आप कह ही सकते हैं कि अगर सदन में इससे किसी को ठेस पहुंची है, तो माफी मांगते हैं.

ध्यान रहे हेगड़े ने अपने बयान में संविधान को बदलने की बात कहते हुए कहा था, लोगों को अपनी पहचान सेक्युलर के बजाय धर्म और जाति के आधार पर बतानी चाहिए. हम संविधान में संशोधन कर सेक्युलर शब्द हटा सकते हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?