पाकिस्तान तथा चीन को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार को विदेश नीति के मामले में पूरी तरह से असफल करार दिया है. कांग्रेस का कहना है कि केंद्र केवल  ‘एग्रेसिव’ होने के बजाये ‘एक्शन का रिएक्शन’ की नीति पर काम कर रही है.

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार की आलोचना करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पाकिस्तान और चीन से कूटनीतिक मामलों में काफी पीछे छूट गए हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि मनमोहन सरकार के कार्यकाल में सेना के दो जवानों के सिर काटे गए थे, बदले में पाकिस्तान के कई जवानों के सिर काट दिए गए थे लेकिन उनकी सरकार ने उस समय ढिढोरा नहीं पीटा था. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल में तीन बार अपने सैनिकों के सिर काटे गए लेकिन केंद्र सरकार केवल दावे ही कर रही है. उसके पास न कोई ठोस नीति है और न ही कार्रवाई.

आजाद ने कहा कि चीन के राष्ट्रपति को भारत में झूला झुलाया जा रहा था लेकिन वह पाकिस्तान का खुलकर समर्थन कर रहा है.

Loading...