rahul-gandhi-6-_031214040446

मेहसाना | कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने आज वो खुलासा कर ही दिया जिसका इन्तजार बीजेपी और पुरे देश को था. राहुल गाँधी ने मोदी पर निजी भ्रष्टाचार के जो आरोप लगाए थे वो सब उन्होंने सार्वजनिक कर दिए. लेकिन राहुल गाँधी ने मोदी पर वो ही आरोप लगाए जो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और वकील प्रशांत भूषण , पिछले कई दिनों से लगाते आये है.

नरेन्द्र मोदी के गढ़ गुजरात में जाकर राहुल गाँधी ने उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए. मेहसाना में रैली को संबोधित करते हुए राहुल गाँधी ने कहा की 22 फरवरी 2014 को आयकर विभाग ने सहारा के यहाँ रेड डाली. इस छापे में आयकर विभाग के हाथ सहारा का एक कंप्यूटर और कुछ डायरी हाथ लगी. इनमे से ही एक कागजात में यह पाया गया की मोदी जी सहारा से रिश्वत ली.

राहुल गाँधी ने कहा की मोदी जी छह महीने में 9 बार सहारा से 40 करोड़ रूपए की रिश्वत ली. यह मैं नही कह रहा बल्कि आयकर विभाग के ये कागजात ( रैली में सबको दिखाते हुए) कह रहे है. इन कागजात पर आयकर विभाग के अधिकारी के हस्ताक्षर और मोहर लगी हुई है. इसके अलावा मोदी जी ने बिडला ग्रुप से 25 करोड़ रूपए की रिश्वत ली. मैं मोदी जी से पूछना चाहता हूँ की अगर ये कागजात सही है तो पीछले ढाई सालो से इनकी जांच क्यों नही हुई?

राहुल गाँधी ने नोट बंदी से हो रही परेशानी को इसके साथ जोड़ते हुए कहा की एक तरफ आपने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने के वास्ते पुरे देश को लाइन में लगा दिया और दूसरी तरफ आप पर ये आरोप है. मैं मोदी जी से इस मामले की जांच कराने की मांग करता हूँ. राहुल गाँधी ने आज जो आरोप मोदी पर लगाए वो ही आरोप केजरीवाल लगातार मोदी पर लगाते आये है. इसके अलावा प्रशांत भूषण मोदी के खिलाफ जांच कराने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी गए लेकिन कोर्ट ने इन सबूतों को नाकाफी माना.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें