न्यूज 18 के कार्यक्रम ‘चौपाल’ में आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा हमला किया है. उन्होंने चुनाव प्रचार में मुगलों को कोसने पर कहा कि मोदी को चुनाव में मुगल याद आते है और फिर बाद में ट्रंप की बेटी को मुगलई खाना खिलाया जाता है.

इस कार्यक्रम में उनके साथ चर्चा के लिए बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी स्वामी शामिल हुए. जो पुरे कार्यक्रम में राम मंदिर का राग गाते रहे. स्वामी ने कहा कि राम मंदिर करोड़ों लोगों की आस्था का सवाल है. जिसके जवाब में ओवैसी ने कहा कि मस्जिद 400 साल से वहीं था. उसे रात के अंधेरे में चोरों की तरह ढहाया गया.

उन्होंने कहा कि आरएसएस के किसी भी संचालक ने राम जन्मभूमि की बात नहीं की. यहां तक कि आरएसएस के 1955 के रिजॉल्यूशन में भी कृष्ण जन्मभूमि की बात है राम जन्मभूमि की नहीं. विश्व हिंदू परिषद की बुकलेट में भी राम जन्मभूमि का ज़िक्र नहीं है. ओवैसी ने कहा कि हमें सुप्रीम कोर्ट पर पूरा भरोसा है कि न्याय होगा.

ओवैसी ने स्वामी पर सवाल उठाते हुए कहा कि स्वामी राम जन्मभूमि नहीं बल्कि मोदी को बचा रहे हैं. वो राम जन्मभूमि के मुद्दे पर लोगों को उलझाकर रखना चाहते हैं ताकि 2019 से पहले नोटबंदी, बेरोज़गारी जैसे मुद्दों पर लोगों का ध्यान न जाए. उन्होंने कहा कि मस्जिद इस्लाम का ज़रूरी हिस्सा है जिसे हटा नहीं सकते. राम मंदिर ज़रूर बनाएं लेकिन मस्‍जिद की जगह नहीं.

इस दौरान स्‍वामी ने कहा कि राम जन्‍म भूमि से हमारी आस्‍था जुड़ी है. जिस पर ओवैसी ने पूछा कि ये देश आस्‍था पर चलेगा या ‘रूल ऑफ लॉ’ पर. इसको मंदिर मस्‍जिद में मत देखिए, ये इंसाफ का मुद्दा है. कोर्ट आस्‍था के आधार पर फैसला नहीं सुनाएगा.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?