Thursday, September 16, 2021

 

 

 

कुमारस्वामी का बयान – चंद्रयान 2 के लिए ‘अशुभ’ साबित हुए ISRO में मोदी के कदम

- Advertisement -
- Advertisement -

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने गुरुवार को मैसूरु में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चंद्रयान 2 को लेकर निशाना साधा।

कुमारस्वामी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री बंगलूरू यह संदेश देने आए थे कि वह खुद चंद्रयान-2 की लैंडिंग करा रहे थे, हमारे वैज्ञानिकों से 10-12 साल तक कड़ी मेहनत की है, वह केवल अपना प्रचार करने आए थे। जब उन्होंने इसरो केंद्र में कदम रखा, मुझे लगता है कि वैज्ञानिकों के लिए दुर्भाग्य बन गया।’

उन्होंने कहा,’ वैज्ञानिकों ने पिछले 10 साल चंद्रमा मिशन के लिए कड़ी मेहनत की है। साल 2008 में ही कैबिनेट ने इसके लिए मंजूरी दे दी थी। मोदी ऐसे बेंगलुरु आए थे, मानो वो खुद चंद्रयान-2 को उड़ा रहे हों’ उन्होंने आगे कहा कि शायद पीएम का इसरो में कदम रखना वैज्ञानिकों के लिए सही नहीं रहा।

उल्लेखनीय है कि ‘चंद्रयान-2′ मिशन को सात सितंबर को उस समय झटका लगा था कि जब ‘विक्रम’ लैंडर का पृथ्वी पर स्थित स्टेशन से संपर्क टूट जाने के कारण चंद्रमा की सतह पर योजना के मुताबिक ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ नहीं हो पाई।

विक्रम की लैंडिंग के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेंगलुरु स्थित इसरो के मुख्यालय पर मौजूद थे। अब इसरो अपने डीप स्पेस नेटवर्क (डीएसएन) के जरिए चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से संपर्क करने की कोशिश में जुटा है। इस काम में नासा भी इसरो की मदद के लिए सामने आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles