indira 647 112917044030

indira 647 112917044030

मोरबी । गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री मोदी धुआँधार प्रचार कर रहे है। वह एक दिन में 4-4 रैलियों को सम्बोधित कर रहे है। बुधवार को मोरबी की एक रैली में उन्होंने मच्छु बाँध त्रासदी का ज़िक्र कर कांग्रेस को कठघरे में खड़ा करने का प्रयास किया। इस दौरान उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का ज़िक्र करते हुए कहा की वो त्रासदी के दौरान जब मोरबी पहुँची तो उन्होंने रुमाल से अपना मुँह ढका हुआ था।

मोदी ने एक पत्रिका का ज़िक्र करते हुए कहा की उस समय एक पत्रिका में इंदिरा जी की तस्वीर छपी थी जिसमें वह अपने मुँह पर रुमाल रखे हुई थी। वहाँ उनको गंध आ रही थी जबकि जनसंघ और आरएसएस के कार्यकर्ताओं को वहाँ से मानवता की ख़ुशबू आ रही थी। लेकिन उनके भाषण के कुछ देर बाद ही कांग्रेस ने उसी पत्रिका की कुछ और तस्वीर जारी कर मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इन तस्वीरों में इंदिरा गांधी ज़रूर अपने मुँह पर रुमाल लगाए हुए दिखायी दे रही है लेकिन उनके साथ साथ आरएसएस के कार्यकर्ता भी अपने मुँह पर रुमाल रखे हुए है। इन तस्वीरों को देखने के बाद यह चर्चा आम हो गयी कि क्या मोदी ने रैली में झूठ बोला? दरअसल 1979 में मोरबी में लगातार तीन दिन तक बारिश हुई जिसकी वजह से मच्छु बाँध में पानी ख़तरे के निशान से ऊपर हो गया।

इसके बाद 11 अगस्त को अचानक से मच्छु बाँध टूट गया और उसका पानी पूरे शहर में घुस गया। यह अचानक हुई त्रासदी थी जिसमें लोगों को सम्भलने का भी मौक़ा नही मिला। बताया जाता है की उस समय शहर की सड़कों पर जनवरो और इंसानो की लाशें बिखरी पड़ी थी। कुछ दिनो बाद वहाँ हालात ऐसे थे की मुँह पर बिना रुमाल रखे वहाँ खड़ा नही हुआ जा सकता था। इसलिए यह एक स्वाभाविक क्रिया थी जिसको मोदी ने मुद्दा बना दिया।

उस समय चित्रलेखा पत्रिका में इंदिरा की वह तस्वीर छपी थी। इंदिरा के अलावा पत्रिका ने आरएसएस कार्यकर्ताओं की तस्वीर भी छापी थी। इस तस्वीर में वो भी अपने मुँह पर रुमाल बांधे हुए थे। हालाँकि पत्रिका ने इंदीरा की तस्वीर के साथ लिखा था, ‘मोरबीनु जलतांडव, जबकि संघ कार्यकर्ताओं की फोटो के साथ नीचे लिखा था-गंधाती पशुता, महकती मानवता।’ लेकिन मोदी ने केवल इंदिरा की तस्वीर का ही रैली में ज़िक्र किया।

Loading...