कोलकाता | पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोट बंदी के बाद से प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है. हाल फ़िलहाल में उनका विरोध और व्यापक हुआ है. तृणमूल कांग्रेस के दो सांसदों की गिरफ़्तारी के बाद ममता बनर्जी और बोखला गयी है. उन्होंने मोदी पर राजनितिक विद्वेष के साथ काम करने का आरोप लगाते हुए कहा की मैं नोट बंदी के विरोध में बोलती रहूंगी चाहे तो मुझे भी गिरफ्तार कर ले.

एएनआई से बात करते हुए ममता बनर्जी ने आज एक बड़ा ही अजीब सुझाव दिया. उन्होंने कहा की देश में अब राष्ट्रिय सरकार बननी चाहिए. ममता ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा की उन्हें (मोदी) अब जाना होगा. फ़िलहाल की स्थिति अस्वीकार्य है. मौजूदा स्थिति में एक दुसरे बीजेपी नेता के नेतृत्व में राष्ट्रिय सरकार का गठन होना चाहिए.

ममता ने आगे कहा की देश को बचाने के लिए चलो एक राष्ट्रिय सरकार का गठन करते है. अडवानी, जेटली या राजनाथ में से कोई एक इस सरकार का नेतृत्व कर सकता है. मौजूदा स्थिति को स्वीकार नही किया जा सकता. ममता बनर्जी का मोदी के ऊपर यह सबसे आक्रमक हमला है. अपने इस बयान से वो यह दिखाना चाहती है की उनका विरोध केवल मोदी से है न की बाकी बीजेपी नेताओं से.

मालूम हो की रोज वैली चिट फंड मामले में सीबीआई ने तृणमूल कांग्रेस के दो सांसदों को गिरफ्तार किया है. पिछले शुक्रवार को तापस पाल को गिरफ्तार किया गया . वही तृणमूल के सबसे अनुभवी नेता में से एक और सांसद सुदीप बंदोपाध्याय को तीन घंटे की पूछताछ के बाद हिरासत में लिया गया. सुदीप की गिरफ़्तारी के बाद पुरे कोलकाता में हिंसा भड़की हुई है. तृणमूल कार्यकर्त्ता , बीजेपी कार्यालय और कार्यकर्ताओ की पिटाई तक कर रहे है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें