Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

आरक्षण को समाप्त करना चाहती है मोदी सरकार: कांग्रेस नेता उमर कासमी

- Advertisement -
- Advertisement -

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस के सचिव मौलाना उमर कासमी ने प्रमोशन में आरक्षण के मसले पर हालिया सुप्रीम कोर्ट के निर्देश को लेकर मोदी सरकार को जिम्मेदार बताया है। जिसमे कहा गया कि  राज्य सरकारें नियुक्ति में आरक्षण देने के लिए बाध्य नहीं हैं और पदोन्नति में आरक्षण का दावा करने का कोई मूल अधिकार नहीं है।

उन्होने कहा कि बीजेपी सरकार में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अधिकार सुरक्षित नहीं है। मोदी सरकार दलितों का आरक्षण छिनना चाहती है। उन्होने इस मुद्दे पर संविधान संशोधन की बात कही। उन्होने कहा कि आरक्षण को मूल अधिकार बनाने के लिए संविधान में संशोधन किया जाए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार में दलितों पर अत्याचार बढ़े है। आए दिन दलितों को निशाना बनाया जा रहा है। उनके पास सामाजिक रूप मजबूत होने का आरक्षण ही एक जरिया है। कासमी ने कहा कि आरक्षण में छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होने कहा कि महात्मा गांधी और बाबा साहेब आंबेडकर के बीच पूना पैक्ट का ही परिणाम है कि आरक्षण एक संवैधानिक अधिकार है।

कासमी ने कहा कि ये देश की एक चौथाई आबादी के लिए ज़िंदगी और मौत का सवाल है। जो हजारों सालों से शोषित और उपेक्षित रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा और आरएसएस वाले कितना भी प्रयास कर लें, आरक्षण को संविधान से अलग नहीं किया जा सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles