जवानों का जीवन राजनीति से कीमती, मोदी सरकार बताए बालाकोट में हुआ क्या: ममता बनर्जी

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को कहा कि हमारे जवानों का जीवन चुनावी राजनीति से ज्यादा कीमती है, लेकिन देश को यह जानने का अधिकार है कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना के हवाई हमले के बाद वास्तव में क्या हुआ था।

ममता बनर्जी ने कहा है कि पाकिस्तान पर एयरस्ट्राइक के बाद प्रधानमंत्री ने कोई सर्वदलीय बैठक नहीं बुलाई। उन्होंने यह कहते हुए सरकार से ऑपरेशन की जानकारी साझा करने के लिए कहा है। उन्होने अंतर्राष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला दिया। उन्होंने बताया, मैं न्यूयॉर्क टाइम्स पढ़ रही थी और उसमें लिखा था कि इस ऑपरेशन में कोई नहीं मारा गया और कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में एक मौत की बात कही गई है।

इसलिए हम इसकी पूरी जानकारी चाहते हैं। उन्होंने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी पर चुनाव से पहले जवानों के खून पर राजनीति करने का आरोप लगाया। ममता ने कहा कि जवानों के साथ ऐसा कोई कैसे कर सकता है। बता दें कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की जमीन पर जैश के आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक किया था, जिसके बाद मीडिया ने करीब 300 आतंकी मार गिराए जाने का किया।

हालांकि विदेश मंत्रालय ने अपनी आधिकारिक प्रेस वार्ता में मौत का कोई आंकड़ा नहीं दिया, लेकिन मंत्रालय की तरफ से ये जरूर कहा गया कि जैश के कैंप पर जो एयरस्ट्राइक की गई है, उसमें आतंकी समूह के कमांडरों समेत बड़ी तादाद में आतंकियों को मारा गया। हालांकि, पाकिस्तान ने इस एयरस्ट्राइक से किसी भी प्रकार का नुकसान होने का दावा किया।

ममता ने यहां राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, “हवाई हमलों के बाद, हमें बताया गया कि 300 मौतें हुईं, 350 मौतें हुईं। लेकिन मैंने न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट में ऐसी खबरें पढ़ीं जिनमें कहा गया कि कोई इंसान नहीं मारा गया। एक अन्य विदेशी मीडिया रिपोर्ट में केवल एक व्यक्ति के घायल होने की बात कही गई थी।”

उन्होंने कहा, “हमें यह जानने का अधिकार है, इस देश के लोग यह जानना चाहते हैं कि कितने मारे गए (बालाकोट में) वास्तव में बम कहां गिराया गया था? क्या यह लक्ष्य पर गिरा था?”

विज्ञापन