मोदी सरकार ने वादे खूब किए लेकिन आखिर में मुसलमानों से किया विश्वासघात: ओवैसी

11:33 am Published by:-Hindi News

लोकसभा में मंगलवार को आम बजट पर चर्चा के दौरान आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी ने जमकर मोदी सरकार को घेरा। उन्होने शिक्षा, रोजगार आदि के मुद्दे उठाए।

ओवैसी ने कहा कि वित्त मंत्रालय ने अब आंकड़े छुपाना भी शुरू कर दिया है। नौकरी के आंकड़े आ नहीं रहे हैं। सरकार की नीतियां समझ नहीं आतीं क्योंकि सरकार चाहबार बंदरगाह के विकास के लिए दिया जाने वाला पैसा भी कम कर दिया है।

उन्होंने कहा कि मैला धोने वालों के लिए सरकार ने जो बजट तय किया था उसका 30 फीसदी इस्तेमाल भी नहीं हुआ, जबकि हर साल इसमें दलित मारे जा रहे हैं।  अल्पसंख्यक मंत्रालय के अलावा इस सरकार ने हर मंत्रालय का बजट बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि आपने वादे खूब किए और विश्वास की बात भी कही लेकिन सरकार ने मुसलमानों से विश्वासघात किया है।

बजट पर चर्चा के दौरान AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में कहा कि मुस्लिम बच्चे शिक्षा में काफी पीछे हैं, उच्च शिक्षा में मुस्लिमों की फीसद काफी कम हैं. उन्होंने कहा कि मुस्लिमों में प्रति व्यक्ति आय भी सबसे कम है।

ओवैसी ने कहा कि सरकार लगातार स्कॉलरशिप कम कर रही है, साथ ही विदेश जाकर पढ़ने वाले बच्चों के लिए सब्सिडी कम की जा रही है। उन्होंने कहा कि एक करोड़ मुसलमानों को स्कॉलरशिप देने का वादा इस सरकार ने किया था लेकिन बजट में सरकार ने 88 करोड़ रुपये कम कर दिए हैं।

ओवैसी ने कहा कि कम से कम स्कॉलरशिप के लिए 6 हजार करोड़ का बजट होना चाहिए। हज सब्सिडी के पैसा बच्चों की पढ़ाई के काम आना चाहिए। आप हमारे हिस्से का पैसा खा गए। अल्पसंख्यकों के लिए क्यों आवासीय स्कूल नहीं खोले जा रहे हैं।

Loading...