कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार के अहंकार के चलते संसदीय लोकतंत्र प्रभावित हुआ है.

शीतकालीन सत्र बुलाए जाने की देरी पर उन्होंने मोदी को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि पीएम ने अपने अंहकार के लिए लोकतंत्र के मंदिर को ताला लगा दिया. वो अपने अहंकार के लिए गरीबों के भविष्य को भी नष्ट करने पर तुले हुए हैं. सोनिया ने कहा कि उन्होंने अजीब से कारणों का हवाला देते हुए शीत सत्र को ही टाल दिया है.

उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार अगामी गुजरात चुनाव की वजह से संसद का सामना करने से बच रही है. जबकि ये महज एक बहाना है.’ सोनिया ने आगे कहा कि यदि कोई लोकतंत्र के मंदिर पर ताला लगाने की सोचता है तो यह गलत है. चुनाव से पहले यह संवैधानिक जिम्मेदारी से भागने जैसा है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा, ‘प्रधानमंत्री जीएसटी के लिए आधी रात को संसद सत्र तो बुला सकते हैं लेकिन आज संसद का सामना करने से भाग रहे हैं.’ ध्यान रहे पीएम मोदी ने 30 जून, 2017 को जीएसटी लागू करने के लिए आधी रात को संसद का सत्र बुलाया था.

सोनिया ने कहा कि कुछ अमीर लोगों का भला करने के लिए असंख्य गरीबों और शोषितों का भविष्य बर्बाद किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि एक साल बीत गया है। लेकिन नोटबंदी से कोई फायदा नहीं हुआ है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?