rahul-rally_650x400_81482141475

नई दिल्ली | कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी और प्रधानमंत्री मोदी के बीच की तल्खी किसी से छिपी हुई नही है. एक तरफ राहुल गाँधी , मोदी पर तंज कसते है तो दूसरी तरफ मोदी राहुल गाँधी पर. नोट बंदी के बाद से यह तल्खी और बढ़ी है. राहुल गाँधी किसी न किसी मंच से मोदी पर प्रहार करते रहते है. नोट बंदी पर रोज बदल रहे नियमो से खिन्न होकर राहुल गाँधी ने मोदी को एक बार फिर ताना मारा.

राहुल गाँधी ने ट्वीट कर कहा की ‘ आरबीआई उसी तरीके से नियम बदल रही है, जैसे मोदी जी कपडे बदलते है’. राहुल ने मोदी के कपड़ो पर इसलिए तंज कसा क्योकि मोदी कपडे बदलने के लिए काफी मशहूर है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मोदी पर आरोप लगाया था की उन्होंने 70 करोड़ रूपए अपने कपड़ो पर खर्च किये है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल नोट बंदी के बाद से आरबीआई और सरकार 59 बार नियम बदल चुकी है. इसके अलावा हर नियम के बाद सरकार और आरबीआई के बीच का कंफ्यूजन सामने आ जाता है. एक दिन पहले आरबीआई कोई नियम बनाकर उसका नोटीफिकेसन जारी करती है , उसके अगले दिन वित्त मंत्री अरुण जेटली नियम में बदलाव कर देते है. ऐसा लगता है जैसे आरबीआई और सरकार के बीच सामंजस्य की कमी है.

अभी कल ही आरबीआई ने सर्कुलर जारी कर कहा की अब 5000 रूपए से ज्यादा पुराने नोट एक ही बार में जमा होंगे. लेकिन जमा करने से पहले बैंक अधिकारी पूछताछ करेगा की आपने अभी तक पुराने नोट बैंक में जमा क्यों नही कराये. जवाब से संतुष्ट होकर ही पैसा जमा किये जायेंगे. आज वित् मंत्री ने नियम में बदलाव करते हुए कहा की पहली बार 5000 से अधिक पैसा जमा कराने पर कोई पूछताछ नही होगी.

इसी वजह से विरोधियो को सरकार के खिलाफ आवाज उठाने का मौका मिल रहा है. यह पहला मौका नही है जब राहुल गाँधी ने मोदी पर इस तरह का हमला किया है. राहुल गाँधी संसद के बाहर भी कह चुके है की उनके पास मोदी के खिलाफ निजी भ्रष्टाचार के आरोप है.

Loading...