Wednesday, June 16, 2021

 

 

 

मोदी बाबू, लोग भिखारी नहीं, जो अब भी निकासी की सीमा पर प्रतिबंध: ममता बनर्जी

- Advertisement -
- Advertisement -

mam

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोटबंदी के 50 दिन पुरे होने के बाद भी बैंकों से नकदी निकासी पर लगे प्रतिबंध पर सवाल उठाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना की हैं. उन्होंने कहा कि सरकार आसानी से लोगों के आर्थिक अधिकारों को ‘छीन नहीं’ सकती.

मुख्यमंत्री ने सवाल उठाते हुए कहा कि  ‘मोदी बाबू, लोग भिखारी नहीं हैं, नकदी निकासी पर अब भी प्रतिबंध क्यों है?’’ उन्होंने एक बयान में कहा, अब 50 दिन पूरे हो गए हैं. आप लोगों को उनकी गाढ़ी कमाई के पैसे निकालने के लिए कैसे मना कर सकते हैं? कोई सरकार लोगों के आर्थिक अधिकारों को नहीं छीन सकती.

ममता बनर्जी की ये प्रतिक्रिया रिज़र्व बैंक के उस फैसले पर आई हैं जिसमे नोटबंदी के 50 दिन पुरे होने के साथ ही 1 जनवरी से नगद निकासी की सीमा 2000 से बढ़ाकर 4500 रु कर दी हैं.

रिज़र्व बैंक के आदेशनुसार, 1 जनवरी से एटीएम के जरिये नकदी निकासी 4,500 रुपये प्रतिदिन की जा सकती है. अभी तक प्रतिदिन एटीएम के जरिये मात्र 2,500 रुपये ही निकाले जा सकते थे. हालांकि बैंकों एवं एटीएम के जरिये साप्ताहिक कुल 24,000 रुपये निकालने की सीमा अभी भी बरकरार हैं. छोटे कारोबारियों के लिए यह सीमा 50,000 रुपये है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles